What Is SEO In Hindi

SEO क्या है (पूरी जानकारी) – What Is SEO In Hindi

What Is SEO In Hindi – अगर आपने अभी Blogging शुरू ही की है, या करने वाले हैं तो आप जरूर जानना चाहते होंगे की SEO क्या है और ये इतना महत्वपूर्ण क्यों है. अक्सर नए Bloggers को इसकी जानकारी नहीं होती, या फिर बहुत ही कम होती है. जिसकी वजह से उन्हें आगे चलकर Traffic के मामले बहुत परेशानी होती है.

लेकिन परेशान होने की बिलकुल भी जरुरत नहीं, हम आपको SEO की पूरी जानकारी देंगे. आपको बहुत ही अच्छे से बताएँगे की SEO क्या होता है. इसे समझने के लिए सबसे पहले इसकी Full Form की तरफ एक बार ध्यान दीजिये. SEO का Full Form यानी पूरा नाम होता है Search Engine Optimization.

अब अगर आपको थोड़ी बहुत भी English आती है तो आपको थोडा Idea तो जरूर हो गया होगा की SEO किस बला का नाम है. चलो हम समझाते हैं आपको. देखिये Search Engine Optimaization का मतलब है अपनी website को Search Engines जैसे Google, Bing और Yahoo के लिए Optimize करना, यानी उनके अनुकूल बनाना.

What Is SEO In Hindi – Blog का SEO करना क्यों जरुरी है

अब आपका Blog या Website search engines के अनुकूल तभी हो सकता है जब आप उसमें अपने Content यानी अपनी Posts को optimize करेंगे. यानी इन सभी Search Engines के अनुकूल बनायेंगे. अब आप पूछेंगे की आखिर हमें अपनी Posts और पूरे Blog को Search engines के लिए optimize करने की जरुरत ही क्या है.

तो सुनिए, आपने अपना नया Blog शुरू किया, हर रोज 1 नयी पोस्ट डालना भी Start कर दिया. ऐसा करते करते आपके Blog पर 50 से ज्यादा पोस्ट आपने Publish कर दी. लेकिन Organic traffic बिलकुल भी नहीं आया. ऐसा क्यों हुआ? क्योंकि अभी आपको नहीं पता की SEO क्या है इसलिए आपने Proper तरीके से अपनी पोस्ट्स का SEO नहीं किया.

अगर किसी भी पोस्ट् का Seo अच्छा नहीं है तो Search Engine उसे सही से Rank नहीं करते. सभी नए Bloggers यही बड़ी गलती करते हैं. बस धडाधड Blog पर पोस्ट डालते रहते हैं. फिर जब उन्हें Traffic नहीं मिलता तो निराश हो जाते हैं. Traffic आने के लिए जरूरी है की आपकी कम से कम 10 से 15% posts सर्च इंजन जैसे Google के पहले पेज पर आयें.

तभी तो आपको ट्रैफिक मिल पायेगा, तभी तो लोग आपकी Posts पर आयेंगे.  मान लीजिये आपने 50 Posts कर दी हैं, लेकिन उनमें से 4 या 5 पोस्ट भी आपकी Google के पहले Page पर नहीं हैं तो क्या आपको Traffic मिलेगा? जी नहीं, और मिलेगा भी तो बहुत ही कम 20 से 30 visitors per day. जो की 50 पोस्ट्स होने के बाद बहुत कम माना जाता है.

SEO क्या है पूरी जानकारी

आप खुद सोच कर देखिये की जब आप Google पर कोई चीज़ search करते हो तो क्या आप तीसरे, चौथे या पांचवें पेज तक जाते हो. आपका जवाब होगा नहीं. क्योंकि हम सब ऐसा ही करते हैं. बस 1st पेज पर हमें जो Posts दिखाई देती हैं, हम उन्ही में से 1 या 2 पोस्ट पढ़ते हैं. कभी कभार By Chance दुसरे Page पर जाते हैं.

तो जब आपकी लगभग सारी पोस्ट्स Google के 3rd, 4th, 5th, 6th या 7th पेज पर हैं तो वहां तक कौन पहुंचेगा. कोई नहीं, इसीलिए Traffic पाने के लिए आपको SEO करना होगा. ताकि आपकी ज्यादा से ज्यादा Posts पहले पेज पर आयें. तभी आपकी पोस्ट्स पर ज्यादा visitors आयेंगे और आपका Traffic बढ़ पायेगा.

Complete Details Of SEO In Hindi – SEO क्या है

अब थोडा और गहराई से जानते हैं की SEO क्या होता है और हर Blog के Successful होने के लिए ये क्यों जरुरी है. देखिये हर Search Engine का अपना एक Algorithm होता है. जैसे हम यहाँ Google का ही उदाहरण ले लेते हैं. क्योंकि ये दुनिया का सबसे बड़ा Search Engine है.

जब भी आप कोई Post पब्लिश करते हो तो Google उस पोस्ट को Index करता है. उस वक़्त Google Algorithm आपके द्वारा किये SEO का विश्लेषण करके ये तय करता है की आपकी पोस्ट कौनसे Page पर दिखानी है. मतलब समझे आप? जितना बढ़िया SEO उतनी ही बढ़िया Ranking आपको मिलेगी.

Google का जो Algorithm है वो लगभग 200 फैक्टर्स पर आपकी Post को जांचता है. उसके बाद ही उसे किसी Page पर स्थान देता है. अब ये 200 Factorts कौन कौन से हैं इन सबका तो अभी किसी को नहीं पता. लेकिन इनमें से कुछ महत्वपूर्ण फैक्टर्स के बारे में हम आपको अगली Posts में जानकारी देंगे.

तो अब आप समझ गए होंगे की Google जिन चीज़ों यानी Factors को Check करता है आपकी Post में, उन्ही के according अपनी पोस्ट को लिखने को SEO कहते हैं. अगर किसी पोस्ट का Seo बहुत ही अच्छे तरीके से किया गया है तो वो Google को पसंद आती है और उसे अच्छी Ranking देता है.

अगर इसका सार निकाला जाए तो कहना गलत नहीं होगा की SEO यानी Search Engine Optimazion वो पद्धति या Formula है जिसके द्वारा हम अपनी Posts को पहले Page पर ला सकते हैं और खूब सारा Traffic पा सकते हैं. हालांकि ये भी सच है की Content Quality भी बहुत ज्यादा मायने रखती है.

अगर आपने किसी पोस्ट का SEO अच्छा किया है तो लेकिन Post की Quality यानी उसमें दी गयी जानकारी में दम नहीं है तो उसकी कोई गारंटी नहीं है की वो अच्छी रैंकिंग प्राप्त करेगी. हाँ, अगर आपके पोस्ट का Content High Quality का है, लेकिन आपको SEO क्या है, बिलकुल भी नहीं पता तो भी आपकी Post अच्छी Ranking पा सकती है.

इससे ये साबित होता है की भले ही Search Engine Optimazion बेहद जरूरी और महत्वपूर्ण है, लेकिन Content का बढ़िया होना भी बहुत जरूरी है. मुख्य रूप से SEO दो प्रकार का होता है, चलिए वो भी जान लेते हैं.

Types Of SEO In Hindi – SEO के प्रकार

What Is SEO In Hindi जानने के बाद अब बारी आती है ये जानने की की Search Engine Optimization कितने प्रकार का होता है. अगर बात करें इसके मुख्य प्रकारों की, तो SEO दो प्रकार का होता है.

(1) On – Page SEO

(2) Off – Page SEO

हमें अपने Blog को जल्दी से जल्दी सफल बनाने के लिए इन दोनों तरह के Optimazations पर ध्यान देना होता है. सिर्फ Post पर पोस्ट लिखने से अगर कुछ होता तो आज हर Blogger एक सफल Blogger होता. लेकिन सच्चाई ये है की सिर्फ 10% के आस पास ही Bloggers सफल हो पाते हैं. चलिए इनके बारे में थोडा अच्छे से जानते हैं.

What Is SEO In Hindi

On – Page SEO – जैसा की आपको इसके नाम से पता चल रहा है “On Page” मतलब इस तरह का SEO आपको अपने Page यानी अपने Blog पर ही करना होता है. जैसे सबसे पहले अपनी Website को seo फ्रेंडली बनाना.

इसमें कई तरह की चीज़ें आ जाती हैं जैसे सबसे पहले Blog को बेहतर बनाना और उसके बाद आप जो भी Post पब्लिश करें उससे पहले उसका अच्छे से SEO करना. चलिए एक बार बता देते हैं आपको की इसके अंतर्गत कौनसी कौनसी चीज़ें आती हैं.

– Website Speed पर ध्यान देना. slow स्पीड वाली websites को सर्च इंजन अच्छी Ranking नहीं देते.

– Blog के लिए अच्छा Simple और Light Theme चुनना.

– Blog को अच्छी तरह से Design करना.

– Blog के लिए Fast Hosting लेना.

– Post  के Title को attractive बनाना और उसमें Focus Keyword का इस्तेमाल जरूर करना.

– Posts में लगायी जाने वाली Images का साइज़ कम करके यानी Compress करके इस्तेमाल करना.

– पोस्ट के पहले Paragraph में Focus Keyword का Use जरूर करना.

– Readability को बेहतर बनाने के लिए छोटे paragraph लिखना.

– Posts में Headings का सही तरीके से use करना.

– पोस्ट्स में Focus Keyword का सही जगह और सही मात्रा में इस्तेमाल करना.

– Meta Description में अपना Focus Keyword इस्तेमाल करना.

– Image Alt Text में अपना Keyword इस्तेमाल करना.

– Post के Permalink यानी URL में keyword इस्तेमाल करना.

ये थी On Page SEO में की जाने वाली चीज़ें. जब आप ये सब अच्छे से कर देते हैं तो आपका On Page Search Engine Optimization अच्छा हो जाता है. जिससे Post को अच्छी Ranking मिलने के आसार बढ़ जाते हैं. उम्मीद है On – Page SEO क्या है आप समझ गए होंगे.

हालांकि हम यहाँ आपको सिर्फ मोटे तौर पर बता रहे हैं. क्योंकि SEO एक बहुत ही बड़ा टॉपिक है और इसकी पूरी जानकारी एक ही Post में देना संभव नहीं है. इसलिए हम जल्द ही अपनी आने वाली पोस्ट SEO कैसे किया जाता है में पूरी Detail के साथ इन सभी Topics पर बात करेंगे.

चलिए अब बात कर लेते हैं Off -Page SEO की. OFF Page का मतलब इस तरह का search engine optimization आपको अपनी Website के बाहर करना होता है. इसके तहत कौन कौन सी चीज़ें आती हैं, चलिए जानते हैं.

– Backlinks बनाना Off Page SEO का सबसे मत्वपूर्ण हिस्सा है.

– अपने Blog का प्रमोशन करना. चाहे वो लोगों को उसके बारे में बताकर हो, या फिर Advertisement करके.

– हर Post को पब्लिश करने के बाद उसे Social Media Platforms जैसे फेसबुक, इन्स्ताग्राम और ट्विटर पर share करना.

– अपने ही Niche वाली दूसरी वेबसाइट पर comment करना.

– अपने Blog और Post के URL को Directories में Submit करना.

– दुसरे Blogs पर Guest Post करना.

ये कुछ अहम् बातें थी Off Page SEO की. चलिए Off – Page SEO क्या होता है की पूरी जानकारी भी आपको मिल गयी है. लेकिन हमें पता है की आप सब इन Points के बारे में Detail से जानना चाह रहे होंगे. तो इसके लिए हमारी SEO से Related एक और Post पढ़िए जिसका Link नीचे है. इसमें आपको Full Information मिलेगी.

इन्हें भी जरूर पढ़ें-

कैसी लगी आपको हमारी पोस्ट SEO क्या है – What Is SEO In Hindi हमें comment करके जरूर बताएं. पोस्ट से सम्बंधित कोई भी सवाल है तो आप comment कर सकते हैं. पोस्ट पसंद आई हो तो इसे Like और Share जरूर करें. हमारे साथ जुड़ने के लिए हमारे Facebook Page को Like करें व हमें Subscribe कर लें.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *