मोबाइल का अविष्कार किसने किया था

मोबाइल का अविष्कार किसने किया था | Who Invented Mobile

दोस्तों कभी ना कभी आप लोगों ने जरूर सोचा होगा की मोबाइल का अविष्कार किसने किया था और कब किया था. यानी इसके अविष्कारक कौन थे. अगर आप लोगों को इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है तो हमारी पोस्ट Who Invented Mobile Phone In Hindi में हम आपको देने जा रहे हैं मोबाइल की खोज व इतिहास की पूरी जानकारी.

Mobile के बिना अब जीवन की कल्पना करना मुश्किल है. कहाँ से कहाँ पहुंचा दिया है मोबाइल ने हमें. एक ज़माना था जब किसी के पास एक छोटा सा सन्देश पहुंचाने के लिए कबूतर का सहारा लेना पड़ता था. उस छोटे से सन्देश को पहुँचने में बहुत टाइम लग जाता था. इस चीज़ की भी गारंटी नहीं थी की वो पहुँच भी जाएगा.

और आज हम चुटकियों में विदेशों में भी बात कर लेते हैं. हमारा सन्देश किसी तक भी पहुँचने में कुछ ही सेकंड्स लगते हैं. कितना आसान हो गया है सब कुछ. ज़िन्दगी को इतना आसान बनाने का श्रेय हमें किसे देना चाहिए, जिसने भी मोबाइल फ़ोन की खोज की थी वो वाकई प्रसंशा के हक़दार हैं.

मोबाइल फ़ोन की खोज किसने और कब की थी

आज हमारा जीवन ऐसा हो चुका है की हम मोबाइल फ़ोन के बिना 1 मिनट भी नहीं रह सकते. अगर हमें कहीं भी जाना होता है तो चाहे बाकी कुछ भी हम भूल जाएँ लेकिन मोबाइल को संभालना नहीं भूलते. आखिर ये हमारी जरुरत जो बन गया है. मोबाइल फ़ोन का अविष्कार किसने किया था, वो जो भी थे, उन्होंने विश्व में क्रांति लाकर रख दी थी.

कितने ही काम करते हैं हम अपने मोबाइल से, समय देखना, किसी त्यौहार की तारीख मालूम करना, किसी दोस्त का नंबर Save करना और अपनी जरुरत के हिसाब से Alarm और Reminders सेट करना. समय अब कुछ इस कदर बदल चुका है की लोग दोस्ती और रिश्तेदारी भी मोबाइल फ़ोन के माध्यम से ही निभा रहे हैं.

पहले लोगों के पास समय हुआ करता था, लेकिन अब सबकी जिंदगी इतनी व्यस्त हो चुकी है की बार बार एक दुसरे से मिलने की बात तो आप भूल ही जाइए. ऐसे में मोबाइल ने ही हमें सहारा दिया और हमारे संबंधों को कम से कम बचाकर रखा. इसके सहारे लोग कम से कम कभी कभार एक दुसरे से बात तो कर लेते हैं.

मोबाइल की खोज किसने और कब की थी

कबूतरों के माध्यम से सन्देश पहुंचाने के बाद एक समय वो आया जब हम हमारे दूर के रिश्तेदारों से बात करने के लिए Landline फ़ोन का इस्तेमाल किया करते थे. Landline के सहारे हम Local calls, STD Calls और ISD calls calls तीनों कर पाते थे. लेकिन उसमें भी काफी मुसीबतों का सामना करना पड़ता था.

Public बूथ पर जमा भीड़, बार बार कोशिश करने पर भी फ़ोन का ना लगना और अगर लग भी गया तो आवाज़ का सही ना आना. तो Landline ने हमारी मदद तो जरूर की, पर उसमें वो मज़े वाली बात नहीं थी. उसके बाद आया हमारे जीवन में Mobile, जिसने एक दुसरे से बात करना इतना आसान बना दिया की आपसी दूरियां जैसे खत्म सी हो गयी.

अब समय आ गया है आपको बताने का की मोबाइल फ़ोन की खोज कब हुयी थी और इसके अविष्कारक कौन थे. कैसा था सबसे पहला मोबाइल? क्या उससे भी हम सब कुछ कर सकते थे जो आज कर सकते हैं? चलिए जानते हैं मोबाइल का पूरा इतिहास.

Who Invented Mobile In Hindi – मोबाइल का अविष्कार किसने किया

इस दुनिया में जब सबसे पहले मोबाइल फ़ोन आया था, वो था सन 1973. यही वो साल था जिसने दुनिया को एक ऐसा रास्ता दिखाया था जिस पर आज भी लोग चले जा रहे हैं. अमेरिका के एक इंजिनियर थे, जिनका नाम था Martin Cooper (मार्टिन कूपर).

वो काफी दिन से एक ऐसा Device बनाने की कोशिश में लगे थे जिसमें किसी प्रकार के तारों का झमेला ना हो, यानी आपस में दो Devices को तारों से ना जोड़ना पड़े और हम दुसरे डिवाइस पर Voice Call कर सकें, यानी बात कर सकें. आखिरकार एक दिन ऐसा करने में सफलता मिल ही गयी. 3 अप्रैल 1973 को उन्होंने ऐसा Device बना दिया.

तो समझे आप मोबाइल फ़ोन के अविष्कारक कौन थे और उन्होंने इसे कब खोजा था? जी हाँ वो शख्स थे Martin Cooper, जिन्होंने 3 अप्रैल 1973 के दिन को एक ऐतिहासिक दिन बना दिया था. जब मार्टिन कूपर ने अपना मोबाइल बनाया था तो उसका वजन 2 किलो के आस पास था.

आप सोच रहे होंगे की अरे बाप रे इतना भारी मोबाइल. लेकिन उस वक़्त ये बात किसी ने नहीं सोची थी. क्योंकि उस समय तो यही बहुत बड़ी बात थी की ऐसा device बन चुका था. चौंकना है तो अब चौंकिए, उस समय उसकी कीमत 2 लाख रूपए से भी ज्यादा थी. सोचिये इतना महंगा मोबाइल?

आप सोच रहे होंगे की अगर इतना महंगा मोबाइल फ़ोन था तो उसमें तो बहुत सारे Features रहे होंगे. बिलकुल नहीं, वो एक बेहद ही साधारण और बिलकुल भद्दा सा उपकरण था. बस उसकी खासियत यही थी की उससे बात की जा सकती थी. एक बार उसे पूरा चार्ज करने के बाद उससे सिर्फ 25 से 30 मिनट तक ही लगातार बात की जा सकती थी.

मार्टिन कूपर ने उसे 0G फ़ोन नाम दिया था, यानी उसका मतलब था Zero Generation. अरे एक ख़ास बात तो बताना भूल ही गए की एक बार उस मोबाइल की बैटरी ख़त्म होने के बाद उसे दोबारा पूरा चार्ज करने में 9 से 10 घंटे लग जाते थे.

तो मोबाइल का अविष्कार किसने किया था और कब किया था आप जान चुके हैं. आप सोच रहे होंगे की सन 1973 में ही लोगों के पास मोबाइल आ गया था. ऐसा कुछ नहीं है 1973 में सिर्फ मोबाइल को खोजा गया था. आम लोगों तक पहुँचने में इसे 9 से 10 साल का समय और लग गया.

जी हाँ 1983 में पहली बार लोगों के लिए Motorola कंपनी ने अपना एक Mobile Phone लांच किया जिसका नाम था Motorola DynaTAC 8000x. कंपनी ने इसे मार्टिन कूपर वाले मोबाइल में कुछ और सुधार करके ये model तैयार किया था इसलिए ये उस वक़्त उससे भी महंगा था.

मोबाइल का अविष्कार किसने किया था

इसकी कीमत लगभग 3 लाख रूपए थी. इस मोबाइल में आप अपने कुछ महत्वपूर्ण Contact Numbers भी Save कर सकते थे. लेकिन बैटरी के मामले में ये भी पहले वाले से कुछ ज्यादा बेहतर नहीं था. समय के साथ साथ मोबाइल के Models में सुधार होते गए और आज बात Smartphones तक पहुँच गयी है.

Spice वो पहली कंपनी थी जिसने भारत में पहली बार मोबाइल उपलब्ध कराया. भारत में मोबाइल फ़ोन आने में काफी समय लग गया था. भारत में पहली बार मोबाइल 1995 में आया.

आज की अगर बात करें तो भारत में करोड़ों लोग मोबाइल का इस्तेमाल कर रहे हैं. और ये आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है. तो दोस्तों मोबाइल फ़ोन का अविष्कार किसने किया था, मोबाइल का इतिहास कितना पुराना है और भारत में पहली बार मोबाइल फ़ोन कब आया? ये सब जानने के बाद अब जानते हैं मोबाइल से सम्बंधित कुछ रोचक तथ्य.

Amazing Facts About Mobile In Hindi – मोबाइल के बारे में रोचक तथ्य

(1) मार्टिन कूपर Motorola कंपनी में इंजिनियर थे और उनके द्वारा इजाद किये उस पहले Mobile की लम्बाई 10 इंच से भी ज्यादा थी.

(2) DianaTAC 8000 Model बहुत ही भारी मोबाइल था. इसे बाज़ार में उतारने के लिए यानी आम लोगों के लिए उपलब्ध करवाने के लिए इसका 750 ग्राम से भी ज्यादा वजन किसी तरह से कम किया गया था.

(3) Camera वाला मोबाइल फ़ोन सबसे पहले 1997 में मार्किट में आया था.

(4) इस दुनिया का सबसे पहला smartphone सन 1993 में आया था जिसका नाम था IBM Simone. यहीं से smartphones की शुरुआत हुयी थी.

(5) साल 2012 एक ऐसा साल था जब पहली बार मोबाइल्स का एक नया रिकॉर्ड बना था. इस साल 75 करोड़ से भी ज्यादा Mobiles बेचे गए थे.

(6) मोबाइल से पहला SMS सन 1992 में नील पापवर्थ द्वारा भेजा गया था, जो की ब्रिटेन से थे.

(7) आंकडों के अनुसार भारत में मोबाइल इस्तेमाल करने वाले लोग औसतन प्रतिदिन 1 घंटा 40 मिनट अपने smartphone की स्क्रीन को देखते हुए बिता रहे हैं.

(8) सन 2007 में पहली Android Phones बाज़ार में आये.

(9) आजतक का सबसे सस्ता और Popular मोबाइल फ़ोन Nokia 1100 रहा है जिसकी बिक्री रिकॉर्डतोड़ रही थी.

(10) नोकिया 1100 को लेकर उडी एक अफवाह ने इसकी कीमत को आसमान में पहुंचा दिया था. अफवाह के मुताबिक इस मोबाइल से किसी भी बैंक अकाउंट को हैक किया जा सकता था. लेकिन ये पूरी तरह से गलत अफवाह थी.

(11) दुनिया का पहला Sim Card सन 1991 में आया था.

(12) जून 2007 में पहली बार Iphone मार्किट में आया जिसे अमेरिका ने लांच किया.

(13) इस दुनिया के 65% से भी ज्यादा Phones अकेला चाइना बनाता है.

(14) पिछले 5 साल में मोबाइल से सेल्फी लेते हुए दुनिया में 10000 से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं.

(15) दुनिया का सबसे महंगा फ़ोन Apple कंपनी ने लांच किया था जिसकी कीमत लगभग 7800000 रूपए से भी ज्यादा थी.

इन्हें भी जरूर पढ़ें-

यहाँ आपने जाना की मोबाइल का अविष्कार किसने किया था – Who Invented Mobile Phone In Hindi. उम्मीद है मोबाइल की खोज व इसके बारे में रोचक तथ्य आपको काफी पसंद आये होंगे. तो फिर पोस्ट को Like और Share जरूर कीजिये. आपका 1 share हमारा उत्साह बढाता है और हम बेहतर काम करने को प्रेरित होते हैं. धन्यवाद.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error

सोशल मीडिया पर जुड़िये हमारे साथ