खाना खाने का तरीका

खाना खाने का तरीका, नियम और सही समय

एक चीज़ हम सबके लिए जानना अत्यंत जरूरी है, और वो है खाना खाने का तरीका. खाना हमारे जीवन का आधार है, लेकिन हम सब खाने के साथ नाइंसाफी करते हैं. हम सब भूल जाते हैं की भोजन करने का भी एक सही तरीका और नियम होते हैं. इन चीज़ों को दरकिनार करके असल में हम अपने ही शरीर के साथ खिलवाड़ करते हैं.

आप सोचिये की जो चीज़ हमारे जीवन के लिए सबसे जरूरी है, जिससे हमारा शरीर बनता और चलता है. अगर उसी चीज़ को हम बिना किसी नियम तरीकों के ग्रहण करते हैं तो इससे हमें कितनी बड़ी परेशानी हो सकती है.

ये एक बड़ी सच्चाई है की भारत देश में 60% से ज्यादा लोगों को तो पता भी नहीं होगा की खाना किस तरह खाना चाहिए. उन्हें तो बस जब मौका मिले खाना ठूसने की आदत होती है. Right Way And Time To Eat Food In Hindi लेख में हम आपको खाना खाने का सही तरीका बताने जा रहे हैं.

भोजन कब करना चाहिए – खाना खाने का सही समय

ग्रंथो और आयुर्वेद के अनुसार खाना खाने नियम और तरीके ऐसे ऐसे हैं जिनको सीखने में आदमी को महीनों लग जाये. लेकिन हम यहाँ इतनी गहराई में तो नहीं जायेंगे पर जितनी भी प्रमुख और जरूरी बातें हैं, आपको उन सब से अवगत कराएँगे.

अगर आप लोगों ने इन पर भी अमल कर लिया तो समझो आपका बेड़ा पार हो जाएगा. एक बात आप समझ लीजिये की हमारा खाना खाने का तरीका ही हमारा स्वास्थ्य तय करता है. ये बात तो सब जानते हैं की अगर अच्छा खाना है तो अच्छा शरीर है.

शरीर को कोई भी काम करने के लिए पहले खाने की जरूरत होती है. शरीर खाने से ही काम करने के लिए उर्जा तैयार करता है. अगर हम अपने शरीर को उसकी उर्जा का स्त्रोत ही सही तरीके से नहीं देंगे तो शरीर भी नाराज़ हो जाएगा और परेशानियां शुरू हो जायेंगी.

हमारा शरीर भी एक मशीन है और हर मशीन को उसका ईंधन सही तरीके से देना होता है. तभी वो नियमित रूप से सही से काम करती है. आप किसी गाड़ी का ही उदाहरण ले लीजिये, उसका ईंधन पेट्रोल या डीजल है, उसी से वो उर्जा बनाती है.

जब भी पेट्रोल ख़त्म होता है वो काम करना बंद कर देती है, या फिर अगर उसके खाने में (ईंधन में) में मिलावट है या घटिया क्वालिटी का है तो उसका इंजन ख़राब भी हो सकता है. इसी प्रकार हमारा शरीर है, इसको भी हमें सही तरीके से ईंधन देना होता है.

खाना खाने का सही समय व् नियम

हमें भली भांति ज्ञात होना ही चाहिए की भोजन करने का उचित समय कौनसा होता है. क्योंकि ये कोई सिर्फ कभी कभी वाली चीज़ नहीं है, खाना तो हमें रोज ही खाना होता है. इसलिए इसे तरीके से व् Time से खाना जरूरी है. तो चलिए जानते हैं की खाना खाने का सही समय.

(1) नाश्ता (Breakfast) कब करें – क्या आप जानते हैं की Breakfast यानी नाश्ता हमारे लिए सबसे ज्यादा जरूरी भोजन होता है. जो लोग Breakfast को Avoid करते हैं उनमें कई तरह की शारीरिक विकृतियाँ और कमजोरी आना शुरू हो जाती है. इसलिए नाश्ता हर रोज करें और हमेशा Healthy Breakfast लें.

आयुर्वेद और Health Experts के अनुसार सुबह उठने के बाद 1 घंटे के अन्दर अन्दर आपको Breakfast कर लेना चाहिए. जी हाँ पूरी रात सोने का बाद हमें जल्दी से जल्दी कुछ खाने की जरुरत होती है ताकि शरीर उससे उर्जा बना सके और Organs अपना काम सही से कर सकें.

काफी सारे लोग सुबह जल्दी उठने के बावजूद कई घंटे बिना नाश्ता किये निकाल देते हैं जो की बहुत ही गलत बात है. सुबह उठने के बाद हमें शौच वगैरह से निवृत होकर, नहा धोकर सबसे पहले Breakfast लेना चाहिए. यही अपने दिन का पहला खाना खाने का सही समय होता है.

(2) लंच (Lunch) कब करना चाहिए – अपने Breakfast के ठीक 5 घंटे बाद आपको अपने दोपहर का भोजन ले लेना चाहिए. जी हाँ जैसे अगर आपने अपना Breakfast सुबह 8:30 पर लिया है तो आप अपना Lunch 1:30 पर लें. अगर आप लगातार इन सिद्धांतों पर चलेंगे तो हमेशा स्वस्थ रहेंगे.

(3) रात का खाना कब खाना चाहिए – Dinner को लेकर ज्यादातर लोग बहुत ही ज्यादा लापरवाही करते हैं. वो रात को लेट तक अपना भोजन नहीं लेते, और फिर Dinner करते ही सो जाते हैं. इस चीज़ का हमारे स्वास्थ्य को खराब करने में बहुत ही बड़ा हाथ है.

रात का खाना समय से खाना बहुत ही जरुरी है. Lunch के 7 घंटे बाद आपको अपना Dinner ले लेना चाहिए. मतलब अगर आपने 1:30 पर Lunch लिया है तो 8:30 पर अपना रात का भोजन अवश्य ले लें.

क्योंकि इसके बाद यदि आ रात को 10 बजे तक सो भी जाते हैं, तो भी आपके शरीर को Dinner को पचाने के लिए डेढ़ घंटा मिल जाता है. जो लोग रात को 11 -12 बजे खाना खाते हैं और खाते ही सो जाते हैं, उन्हें अपनी इस आदत को जल्दी से जल्दी बदल लेना चाहिए.

अब बढ़ते हैं आगे, और जानते हैं खाना खाने का सही तरीका. क्योंकि ये बहुत ही महत्वपूर्ण मुद्दा है जिसे गंभीरता से लेना जरूरी है. ये लेख पढने के बाद आप खुद सोचियेगा की आप इनमे से कितनी गलतियाँ करते हैं, और उनको सुधारने की कोशिश जरूर कीजियेगा. आज के बाद आप सब को इन नियमों को ध्यान में रख कर ही भोजन ग्रहण करना है.

Right Way To Eat Food In Hindi – खाना खाने का तरीका

(1) खाना खाने से पहले हाथ जरूर धोंये– हमारे देश की 60% आबादी खाना खाने से पहले हाथ धोना जरूरी नहीं समझती, इसीलिए हमारे देश में मरीजों की संख्या दुसरे देशों की तुलना में ज्यादा है.

आप सब ये समझ लें की 40% से ज्यादा बीमारियाँ हमारे खाने के साथ जाने वाली गंदगी के कारण होती हैं. हमें और कुछ याद रहे या न रहे लेकिन खाना खाते समय हाथ जरूर धोएं.

(2) खाना हमेशा बैठकर ही खाएं– पश्चिमी सभ्यता के पीछे भागते भागते हम भारतीय संस्कृति को भूलते जा रहे हैं, जो की विश्व में सबसे श्रेष्ठ मानी जाती है. आज हर जगह किसी भी समारोह में आप देख लीजिये, हर जगह लोग खड़े खड़े खाना खाते हुए मिल जायेंगे.

ये सबसे गलत भोजन करने का तरीका होता है. आयुर्वेद में इसके हजारों नुकसान बताये गए हैं. खड़े होकर खाना खाने से आपको खाने के वो सारे लाभ नहीं मिल पाते जो बैठकर खाने से मिलते हैं. आप इस बारे में Research कर सकते हैं.

(3) तनाव में कभी भी भोजन न करें– कई बार हम बहुत ज्यादा तनाव में होते हैं, ऐसी स्थिति में हम भोजन न ही करें तो अच्छा है. ग्रंथो के अनुसार तनाव और बहुत ज्यादा चिंता की स्थिति के दौरान किया गया भोजन शरीर के लिए जहर का काम करता है.

ऐसा होने पर हमें अपने मूड के ठीक होने का इंतज़ार करना चाहिए. अगर आपका Mood कुछ ज्यादा ही खराब है तो एक Time का खाना छोड़ भी सकते हैं, उससे कोई दिक्कत नहीं है.

(4) भोजन को चबाकर खाएं– अगर आप चाहते हैं की आप जो खा रहे हैं वो आपके शरीर को लगे तो इसके लिए आपको खाने को अच्छी तरह चबाकर खाना होगा. जितना ज्यादा अच्छी तरह से आप खाने को चबायेंगे, उतना ही अच्छा वो पचेगा और उससे आपको उतने ही ज्यादा पौषक तत्व मिलेंगे.

बिना चबाये भोजन को निगलने पर शरीर भी उसको सही से प्रोसेस नहीं करता और अधपचा ही मल द्वारा वो बाहर निकल जाता है. मतलब जिस चीज़ के लिए हमने खाना था वो चीज़ें हमें उससे नहीं मिल पाती. इसलिए हमेशा खाना खाने का सहीतरीका अपने दिमाग में रखें और भोजन को चबाकर खाएं.

(5) भोजन हमेशा जमीन पर बैठकर ही करें– हमारे ऋषि-मुनि कह कर गए हैं की व्यक्ति को हमेशा अपनी जमीन से जुड़कर रहना चाहिए और जमीन से प्राप्त हुआ भोजन हमेशा जमीन पर बैठकर ही ग्रहण करना चाहिए.

हो सकता है इसके कोई वैज्ञानिक लाभ न दिखाई दें, लेकिन हमारे पूर्वजों के अनुसार इसके ढेरों फायदे हैं. आजकल लोग अपने Bed पर बैठे बैठे ही भोजन ग्रहण करते हैं जो की गलत हैं.

खाना खाने का तरीका

 

(6) टी.वी देखते देखते खाना न खाएं– ये आज की सबसे बड़ी दिक्कत है, बच्चों से लेकर बूढों तक, कोई भी बिना T.V On किये खाना नहीं खाते. इसके भयंकर दुष्परिणाम हैं, जिनमें से एक है कमज़ोर याददाश्त.

पढाई करने वाले बच्चे ये बात अच्छी तरह जान लें की लगातार ऐसा करने से आपकी Memory बहुत ही कमजोर हो जाएगी. 30 की उम्र तक आते आते आप बहुत कुछ भूलना शुरू कर दोगे. इसलिए खाना हमेशा शांत जगह पर बैठकर खाएं.

कई लोगों को आदत होती है की वो खाना खाते वक़्त कोई भी अख़बार या कहानियों की किताब पढ़ने लग जाते हैं. ये भी उतनी ही खराब आदत है जितनी टी.वी देखते हुए खाना खाना. अपनी इस आदत को जल्द से जल्द बदल लें और अपने बच्चों को तो खासकर समझाएं, नहीं तो उनकी याददाश्त बिलकुल कमजोर हो जायेगी.

(7) खाने पर ध्यान लगायें– खाना खाने का सही तरीका ये होता है की आप भोजन करते वक़्त सिर्फ और सिर्फ अपने खाने पर ध्यान लगायें. कई लोग तो इतने जल्दी में रहते हैं की उन्हें ये भी नहीं पता होता की कितनी चपाती खा चुके हैं, और वो क्या क्या खा रहे हैं.

आयुर्वेद में एक बहुत ही अच्छी बात बताई गयी है की आप जो कर रहे हैं अगर आपका ध्यान केवल उस पर है तो आपको मज़ा भी आएगा और लाभ भी पूरा मिलेगा. ध्यान देने के कारण हम खाना सही से खा पाएंगे.

(8) हमेशा अपनी भूख से कम खाएं– हमें हमेशा अपनी भूख से थोडा कम खाना खाना चाहिए, इससे हमारा पाचन तंत्र हमेशा स्वस्थ रहता है. इस बात का तो आपको वैज्ञानिक प्रमाण भी मिल जायेगा.

अगर हम अपनी भूख से कम खाना खायेंगे तो हमारे शरीर के अन्दर जो Organs हैं, जो खाने को पचाने का काम करते हैं, उन पर दबाव नहीं पड़ता. जिसके कारण वो लगातार ठीक से अपना काम करते हैं.

(9) 1 दिन के लिए खाना छोड़ दें– आपने लोगों से सुना होगा की उन्होंने पुण्य कमाने के लिए व्रत किया है, लेकिन अधूरी जानकारी के कारण असल में उनको इसकी असलियत मालूम नहीं होती.

पुराने ऋषि-मुनि और महात्माँ अपने शरीर के भीतरी अंगों को आराम देने के लिए और अपने शरीर की सफाई के लिए व्रत करते थे. बस लोगों ने उसका कुछ और मतलब निकाल लिया और वो उनका अनुसरण करने लगे.

लेकिन जो भी हो हमें हर सप्ताह 1 दिन का व्रत जरूर करना चाहिए. पुराने ज़माने में ये खाना खाने का तरीका बहुत ही ज्यादा प्रचलित था. अगर आप भी ऐसा करेंगे तो निसंदेह आप एक बहुत ही अच्छा स्वास्थ्य प्राप्त करने में सफल हो जाओगे.

(10) खाना खाने के बाद पानी न पीयें– हमें कभी भी खाना ख़त्म करते ही पानी नहीं पीना चाहिए. 1-2 घूँट का तो फिर भी चलता है, लेकिन कई तो पूरा गिलास पानी पी जाते हैं जो गलत है.

आपकी ये आदत आपके शरीर का सत्यानाश कर सकती है. इससे आपके अन्दर का System बहुत कमजोर हो जाता है. पानी भोजन को पचाने वाली ज्वाला को बुझा देता है. उसके बाद तो आप खुद सोच सकते हैं.

(11) खाना खाने के पात्र हमेशा साफ़ रहें– जिस प्रकार खाना खाने से पहले हाथ धोना जरूरी है उसी तरह जिन बर्तनों में हम खाना खाते हैं वो भी साफ़ होने जरूरी हैं. नहीं तो आप बीमार पड़ सकते हैं. क्योंकि गंदे बर्तनों के द्वारा भी हमारे शरीर में हानिकारक विषाणु पहुँच जाते हैं.

(12) भूख लगने पर ही खाना खाएं– खाना खाने या भोजन ग्रहण करने के नियम तो बहुत हैं लेकिन ये सबसे ख़ास है. दिखने में ये बात छोटी सी लगती है लेकिन इसमें बहुत दम है.

अगर आपको ऐसी आदत है की आप हमेशा कुछ न कुछ खाते रहते हैं या फिर खाना खाने के बाद भी कुछ न कुछ खाते रहते हैं तो ये आदत बदलिए. आपको खाना हमेशा तब खाना चाहिए जब आपको अच्छे से भूख लग जाये.

तो ये था हमारा लेख खाना खाने का तरीका, नियम और सही समय – Right Way To Eat Food (Meals) In Hindi. उम्मीद है आपको इस लेख से काफी अच्छी जानकारी मिली होगी.

आपको हमारी पोस्ट कैसी लगी हमें Comment करके जरूर बताए. Post को Like और Share जरूर करें. हमारे साथ जुड़ने के लिए हमारे Facebook Page को Like करें व् हमें Subscribe जरूर कर लें. धन्यवाद.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *