योग के फायदे

योग करने के 10 जबरदस्त फायदे  | Health Benefits Of Yoga In Hindi

दुनिया की जनसंख्या का बड़ा हिस्सा आज योग के फायदे उठा रहा है और खुद को पूर्ण रूप से स्वस्थ रख रहा है. Health Benefits Of Yoga In Hindi लेख में आप जानेंगे योग करने के अनमोल स्वास्थ्य लाभ. साथ ही आपको हमारे जीवन में योग का महत्व और इसके प्रकार (Types) की जानकारी देने की भी कोशिश करेंगे.

शारीरिक और मानसिक दोनों तरह से बिलकुल स्वस्थ रहने के लिए जो Formula एक समान काम करता है, उसका नाम है योग. शुरू शुरू में दुनिया ने भारत की इस अनमोल व स्वस्थ रहने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली सबसे पुरानी कला का मज़ाक उड़ाया था.

लोगों का कहना था की योग करने के फायदे बिलकुल शून्य हैं और ये सिर्फ समय की बर्बादी है. लेकिन धीरे धीरे लोगों ने योग का महत्व समझा, मतलब इस कला ने खुद को साबित किया, और आज सारी दुनिया योग के पीछे पड़ी हुयी हैं.

भारत देश के कई संत और योगगुरु विदेशों में जाकर अपनी इस कला से लोगो को स्वस्थ बना रहे हैं. योग एक ऐसी कला बन चुकी है जिसने भारत को विश्व के मानचित्र पर एक अलग पहचान दिलाई है. यकीन मानिए विदेशों में भी अब योग को भारी समर्थन मिल रहा है.

लोगों की भीड़ इकट्ठी हो रही है, और लोगों के मन में इस कला के प्रति विश्वास बढ़ता जा रहा है. ऐसा नहीं है की लोगों के बीच सिर्फ वहम है बल्कि उनको योग के फायदे मिल भी रहे हैं. तभी तो इतने लम्बे समय से चली आ रही इस कला का रुतबा बढ़ता ही जा रहा है.

योग एक ऐसी पद्धति है जिसके द्वारा हम हमारे शरीर, मन और आत्मा तीनों पर एक साथ काम कर सकते हैं. योग करने से अगर आप शारीरिक रूप से स्वस्थ रह सकते हैं तो इसके लाभ मानसिक रूप से स्वस्थ रहने में भी कम नहीं हैं. मन मष्तिष्क पर योग का बहुत ही अच्छा प्रभाव होता है, जिससे मन हमेशा प्रसन्न रहने लगता हैं.

Rules And Importance of Yoga In Hindi – योग करने के नियम और महत्व 

हर चीज़ यानी हर कला का अपना एक उसूल और नियम होते हैं. किसी भी चीज़ को शुरू करने से पहले उसके बारे में अच्छे से जान लेना बेहतर होता है. क्योंकि हर चीज़ का दूसरा पहलू भी होता है, जिसमें कुछ नुकसान भी हो सकते हैं. इसलिए योग करने के फायदे लाभ हम बाद में बताएँगे पहले इसके कुछ नियम जान लीजिये.

(A) सबसे पहले तो आपको बतादें की योग करने का सही Time जानना अति आवश्यक है. हम ऐसे ही किसी भी समय पर योग नहीं कर सकते. योग करने का सबसे सही समय सूर्योदय से पहले या सूरज डूबने के बाद का होता है.

(B) कभी भी भोजन करने के तुरंत बाद योग नहीं करना चाहिए. अगर आपने खाना खाया है तो आप उसके 2 से ढाई घंटे बाद योग शुरू कीजिये. इसी तरह अगर सुबह योग करना है तो बिलकुल खाली पेट ही करें.

(C) अगर आप पूरी तरह से स्वस्थ महसूस नहीं कर रहे हैं या आपके शरीर के किसी भी हिस्से में दर्द हो रहा है तो उस दिन योग ना ही करें तो अच्छा रहेगा. ये कुछ ऐसे योग के नियम हैं जिन्हें दरकिनार करना महंगा पड़ सकता है.

Health Benefits Of Yoga In Hindi

(D) योग एक ऐसी कला है जिसे करते हुए Focus करने की जरुरत होती है. इसमें हर चीज़ Perfect तरीके से करनी होती है. अन्यथा योग के फायदे यानी Benefits मिलने के बजाय उल्टा नुकसान होगा. इसलिए योग हमेशा एकांत में और अपना Mobile वगैरह Switch Off करके ही शरू करें.

(E) अगर आपको योग की पूरी जानकारी नहीं है, और आपकी शुरुआत ही है तो ध्यान रहे कभी भी मुश्किल आसन से शुरुआत ना करें. कुछ दिन तक वही आसन करें जो आसान हो और आराम से हो जाएँ.

(F) अगर आपको योग करते हुए बीच में ही अक्सर प्यास लगती है तो ठंडा पानी पीने के बजाय गुनगुना पानी पीयें. मौसम चाहे गर्मी का हो या ठण्ड का. अगर ज्यादा गर्मी है तो आप Fridge का पानी ना पीकर मटके का पानी पीयें.

(G) सबसे आखिरी और सबसे जरुरी बात, बहुत से लोगों के पास समय की कमी होती है. इसलिए लोग सुबह योगा करके घर आते ही नहा लेते हैं. ऐसी भूल आप ना करें, योग करने के दौरान आपका शरीर गर्म हो जाता है. इसलिए कम से कम आधा घंटा जरूर रुकें.

ये थे योग शुरू करने से पहले जानने लायक नियम, अब थोडा इसके Importance की बात कर लेते हैं. कुछ यूँ समझिये की हमारी Life में योग का महत्व बहुत ही ज्यादा है. ये हमारे जीवन को पूरी तरह से बदलने का माद्दा रखता है.

हमारे पूर्वज कहते थे की चलो मान लिया की योग हमारा धर्म नहीं है, लेकिन योग से बड़ा कोई धर्म भी नहीं है. क्योंकि ये अद्भ्युत कला सम्पूर्ण मानवजाति को एक अलग और विकार रहित जीवन दे सकती है. इसमें इतनी शक्ति है की आप अपनी सभी इन्द्रियों पर विजय प्राप्त करने का मार्ग खोज सकते हो.

किसी भी व्यक्ति का अस्तित्व उसकी तीन चीज़ों से बनता है. एक है उसका शरीर, दूसरा है उसका मन और तीसरा है उसका विश्वास. योग करके आप इन तीनों चीज़ों को बहुत ही ज्यादा मजबूत बना सकते हो.

योग किसी भी व्यक्ति के जीवन को सफल बना सकता है. क्योंकि सफल जीवन वही कहलाता है जिसमें व्यक्ति स्वस्थ रहे, हमेशा खुश रहे और लम्बी आयु प्राप्त करे. योग के माध्यम से हम अपने ये सभी लक्ष्य बड़ी ही आसानी से प्राप्त कर सकते हैं. इसलिए योग हमारे जीवन में बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण है.

योग के प्रकार – Types Of Yoga In Hindi

वैसे तो योग भी एक बहुत ही विस्तृत विषय है और ज्यादातर लोगों को नहीं पता की इसके कितने प्रकार होते हैं. लेकिन अनुसंधान करने पर हमें पता चला की 7 तरह के मुख्य योग हैं जिनके बारे में पढ़ाया जाता है और जिसकी कई लोगों को जानकारी भी है. वो 7 तरह के योग कुछ इस प्रकार हैं.

(1) राज योग – इसके तहत ज्यादातर वो योग आते हैं जिनमें हमें ध्यान लगाने की आवश्यकता होती है. साधारण लोग जो योगासन करते हैं वो ज्यादातर इसी से सम्बंधित हैं.

(2) हठ योग – इस योग का सम्बन्ध हमारे जीवन यानी प्राणों से हैं.

(3) कर्म योग – इसके तहत आने वाले योग का सम्बन्ध हमारे कर्मों से हैं.

(4) मनोयोग – वशीकरण, आकर्षण और सम्मोहन वगैरह के योग इस श्रेणी में आते हैं.

(5) ज्ञान योग – मष्तिष्क से सम्बंधित बातों और अपने ज्ञान को विकसित करने वाले योग इसके तहत आते हैं.

(6) कुंडलिनी योग – सब कुछ मिलने के बाद संतुष्टि के लिए किये जाने वाले योग हैं ये. जिन्हें राजशाही योग भी कहा जाता है.

(7) भक्ति योग – पूजा अर्चना, भक्ति या मन्त्र जाप के लिए ये योग किये जाते हैं.

Yoga Benefits In Hindi – योग के फायदे

(1) योग करने का सबसे बड़ा फायदा तो ये है की ये 3 इन 1 है. चलिए समझाते हैं आपको की कैसे. देखिये हम अपने शरीर को Fit रखने के लिए Gym जाते है, मष्तिष्क की किसी समस्या के लिए Doctor के पास जाते हैं और आत्मशान्ति प्राप्त करने के लिए किसी गुरु के पास जाते हैं. यांनी तीन कामों के लिए तीन अलग अलग इलाज.

लेकिन योगा एक ऐसी पद्धति या व्यायाम है जो हमें इन तीनो चीज़ों में लाभ प्रदान करता है. योग करने से हम शारीरिक रूप से भी मजबूत बनते हैं, मानसिक रूप से भी स्वस्थ होते हैं और हमें आत्मशान्ति की भी प्राप्ति होती है. यानी तीनों समस्याओं का सिर्फ एक इलाज, तो हो गया ना 3 इन 1.

(2) हमें हमेशा स्वस्थ रहने के लिए अपने वजन पर ध्यान देना जरुरी है. बहुत ज्यादा वजन आपको बीमार बन देता है. नियमित रूप से किया गया योग आपके वजन को हमेशा Control में रखता है. बहुत सारे ऐसे योगासन हैं जो वजन या Fat को कम करने का काम करते हैं.

योग के फायदे

कई योगासन तो ऐसे भी हैं जो शरीर में जमी वसा को कम करने का काम तो करते ही हैं, बल्कि आपकी भूख को नियंत्रित करने का काम भी करते हैं. क्योंकि ये योगासन आपकी सहनशक्ति को बढ़ाने का काम करते हैं. अगर आपको भी वजन कम करना है तो कपालभाती, प्राणायाम और सूर्य नमस्कार योगासन सबसे Best रहेंगे आपके लिए.

(3) आजकल Blood Sugar बढ़ने की समस्या यानी Diabetes लोगों में संक्रामक रोग की तरह फैल रही है. डायबिटीज के मरीज़ बढ़ते ही जा रहे हैं. आपको इस खतरनाक बीमारी में भी योग करने के लाभ जरूर मिलते हैं. बहुत सारे ऐसे योगासन हैं जो हमारे खून में शर्करा के Level कम करने का काम बखूबी करते हैं.

अगर आपको Diabetes है, या नहीं भी है तो आप आज से ही योग को अपनाइए. आपको लाभ जरुर होगा. अगर आपका Sugar Level ज्यादा है तो आप वज्रासन, बालासन, हलासन, चक्रासन और प्राणायाम कीजिये. योग शुरू करने के 2 से 3 महीने बाद आप अपना Sugar Level दुबारा Test करवाए, लाभ जरूर दिखेगा.

(4) नियमित रूप से योग करने से हमारी Immunity बेहतर होती चली जाती है. जो लोग बहुत ही जल्दी जल्दी बीमारियों की चपेट में आते रहते हैं, उन्हें लगातार स्वस्थ रहने के लिए संघर्ष करना पड़ता है. योग को अपनाकर वो लोग स्वस्थ जीवन जी सकते हैं.

क्योंकि बहुत सारे ऐसे योगासन हैं जो रोग प्रतिरोधक क्षमता को बेहतर बनाने का काम करते हैं. अगर आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जायेगी तो आप छोटी मोटी बीमारियों से बचे रहेंगे. Immunity बढ़ाने के लिए आप ताड़ासन, त्रिकोणासन, वृक्षासन और उत्कटासन करें.

(5) योग करने से हमारा दिल यानी हृदय स्वस्थ रहता है. आप तो जानते ही हैं की हमारा जीवन हमारे Heart के इर्द गिर्द ही घूमता है. अगर दिल किसी बीमारी से ग्रसित हो जाए मुसीबत हो जाती है. दिल को हमेशा स्वस्थ रखने के लिए आप उथिताहस्तपादासन, ताड़ासन, वीर भद्रासन, धनुरासन, भुजंगासन और वृक्षासन करें.

जब आप रोज ये योगासन करेंगे तो सबसे पहले ये आपके शरीर में  रक्त परिसंचरण को बेहतर बनायेंगे. जब आपके शरीर में खून का दौरा सही रहेगा तो दिल के ऊपर किसी तरह का कोई Pressure नहीं पड़ेगा. ऊपर से ये योगासन आपका Blood Pressure हमेशा Normal रखेंगे. यही कारण है की आपका दिल भी हमेशा स्वस्थ रहेगा.

(6) जैसा की हमें आपको ऊपर बताया था की योग के फायदे (Benefits) सिर्फ Body को ही नहीं बल्कि आपके मष्तिष्क को भी बराबर मिलते है. जी हाँ योग तनाव कम करने का सबसे बढ़िया तरीका है. योग करने से आपके शरीर में Cortisol नामक Harmone का स्त्राव कम हो जाता है.

ये Harmone हमारा तनाव बढ़ाने का काम करता है. इसके कम होने से हमारा तनाव भी कम हो जाता है. तनाव कम करने के लिए आप जानूशीर्षासन, सुखासन, उत्तानासन, शवासन और बालासन करें. कुछ ही दिन में आपको फायदा देखने को मिलेगा, आपका मन खुश रहना शुरू हो जाएगा.

(7) अगर नींद सही से ना आये तो बहुत सारी बीमारियाँ हमें घेर लेती हैं. ना दिमाग ठीक रहता है और ना ही शरीर. ऐसे में नींद की गोलियों की तरफ भागने के बजाय आप नेचुरल तरीका यानी योग करेंगे तो कुछ ही दिन में आपकी नींद में सुधार हो जाएगा.

अगर आदमी को नींद अच्छी और पूरी आये तो आधी से ज्यादा बीमारियाँ तो वैसे ही उससे दूर रहती हैं. शरीर और दिमाग दोनों को Recover होने या स्वस्थ रहने के लिए पर्याप्त और गहरी नींद की जरुरत होती है. अच्छी नींद के लिए आप शवासन, उत्तानासन और बालसन का सहारा लें. कुछ ही दिन में आपकी नींद में जरूर सुधार होगा.

(8) क्या आपको पता है की निरंतर योगाभ्यास करने वाले लोग Gym करने वाले लोगों से भी मजबूत हो सकते हैं. जी हाँ कद काठी में भले ही Gymers उनसे Tough लगें, लेकिन योग करने वाले उनसे ज्यादा मजबूत हो सकते हैं. क्योंकि वो लोग मानसिक और शारीरिक दोनों तरह से मजबूत होते हैं.

Gym करने वाले बन्दे के सिर्फ शरीर से मजबूत होने की गारंटी होती है. लेकिन योग करने वालों को योग के फायदे मजबूत शरीर, मजबूत मन, ज्यादा सहनशक्ति, बेहतर इम्युनिटी, मजबूत दिल और लचीले शरीर के रूप में मिलते हैं. इसलिए उनमें किसी भी Gym करने वाले व्यक्ति से ज्यादा Qualities होती हैं.

(9) Anxiety और Depression ऐसे रोग हैं जो बिजली की गति से बढ़ते जा रहे हैं. दुनिया की एक बहुत बड़ी आबादी इन बिमारियों की चपेट में हैं. अगर आपको ये बीमारी नहीं है तो योग आपको इनसे बचाने में मदद करेगा और अगर बीमारी है तो उसे कम करने में भी योग बहुत ही कारगर है.

जो लोग शारीरिक और मानसिक रूप से कमजोर होते हैं, उनको ये बीमारियाँ बहुत ही जल्दी पकडती हैं. इसलिए अगर आपको Anxiety और Depression जैसी बीमारियों को दूर भगाना है तो सेतुबंधासन, बालासन, सुखासन, भुजंगासन और शवासन करें. आप दिमागी तौर पर हमेशा स्वस्थ रहेंगे.

(10) ये भी साबित हो चुका है की नियमित रूप से योगाभ्यास करने से आप अपने यौन जीवन को बेहतर बना सकते हो. क्योंकि हमारी यौन शक्ति हमारी मानसिक शक्ति के ऊपर निर्भर करती है. इसलिए अगर यौन कमजोरी है तो पहले मानसिक कमजोरी को दूर करना होगा.

यहीं पर योग अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. योग उन कारणों की जड़ को ही समाप्त कर देता है जो आपकी यौन दुर्बलता के लिए जिम्मेदार हैं. यौन जीवन को बेहतर बनाने के लिए आप हलासन, पदमासन, धनुरासन और सर्वांगासन करें. आपको अपने आप में एक नयी शक्ति का संचार देखने को मिलेगा.

ये था हमारा लेख योग के फायदे – Health Benefits Of Yoga In Hindi जिसमें आपने योग के प्रकार और इसके महत्व को भी जाना. ये लेख आपको कैसा लगा हमें Comment करके जरूर बताना.

पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे Like और Share जरूर करें ताकि दूसरों को भी इसका लाभ मिल सके. हमारे साथ जुड़ना चाहते हैं तो हमारे Facebook Page को Like कर लें और हमें Subscribe जरूर कर लें. धन्यवाद.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *