होशियार कैसे बने

होशियार कैसे बने | खुद को समझदार व होशियार बनाने के तरीके

ज़िन्दगी को आसान बनाने के लिए समझदार होना बहुत ही जरूरी है. अन्यथा आप Life के इस भंवर में फंस कर रह जायेंगे और ये दुनिया आपको जीने नहीं देगी. तो इस लेख में जानिये समझदार और होशियार कैसे बने और चतुराई से काम लेते हुए अपनी Life को आसान कैसे बनाये.

स्वागत है आप सबका, खासकर उन लोगों का जो हमेशा इस दुविधा में रहते हैं की समझदार कैसे बनें या अपने आप को होशियार कैसे बनाये. असल में ऐसा सोचने वाले ज्यादातर लोग बेचारे भोले भाले होते हैं और किसी ना किसी तरह से इस समाज या दुनिया से चोट खाए हुए होते हैं.

ये सच है की ज़माना बदल गया है और भोले लोगों का वक़्त बीत चुका है. अगर आप समझदार, होशियार, चतुर, चालाक और तेज नहीं हैं तो माफ़ कीजियेगा आपको अपनी इस Life में काफी कठिन परिस्थितियों का सामना करना पड़ेगा. अगर आप इनसे बचना चाहते हैं तो आपको होशियार बनने के तरीके खोजने ही होंगे.

दुनिया ऐसे लोगों से भरी पड़ी है जो बेचारे भोले लोगों को हर तरह से दबाकर रखने की कोशिश करते हैं. क्योंकि उन्हें पता है की ऐसे लोगों में किसी प्रकार की चतुराई नहीं होती और ये आपका कुछ नहीं बिगाड़ सकते. याद रहे ये दुनिया ऐसे ही लोगों को परेशान करती है जो उन्हें कमजोर और भोले लगते है.

चालाक और तेज व्यक्ति से कोई भी पंगा नहीं लेना चाहता. तो हम यहाँ आपको ये कहना चाहते हैं की चलिए बहुत ज्यादा चालाक ना सही लेकिन अपने आपको इतना समझदार और होशियार तो बनाइये की आप लोगों के साथ अदब से पेश आ सकें और कोई आपको बेवजह परेशान करने की हिम्मत ना कर सके.

अगर आप खुद को समझदार बनाने में कामयाब होते हैं तो निसंदेह आप भी इस दुनिया को चलाने वाले ठेकेदारों में शामिल हो जायेंगे. मतलब लोग आपको भी खुद की ही श्रेणी का मान लेंगे और आपका जीवन आसान हो जाएगा.

समझदार बनने का सिर्फ ये एक ही फायदा नहीं है बल्कि आपको अपने जीवन में समय समय पर अनेकों फायदे मिलेंगे. बस कुछ यूँ समझ लीजिये की आप अपनी जीवन रुपी गाडी को बेहतर तरीके से चला पायेंगे मतलब आपकी Life काफी Easy हो जायेगी.

तो चलिए जानते हैं की होशियार बनने के लिए क्या करें? हम यहाँ आपको समझदार इंसान बनने के तरीके व् टिप्स बताने जा रहे हैं. अगर समझदार व्यक्ति के गुणों को अपने अन्दर समाहित करते हैं तो निसंदेह आप अपनी नैया पार लगा पाएंगे.

समझदार बनकर Life को आसान कैसे बनाये – होशियार कैसे बने

(1) सामाजिक लोगों के बीच बैठें – आप चाहे गाँव में रहते हो या किसी शहर में, आपके आस पास लोगों की एक ऐसी टोली जरूर बैठती होगी जिसमें कई समझदार लोग होते हैं. असल में उन लोगों के पास ज्ञान का असीम भण्डार होता है और हर तरह की खबर भी होती है.

आप मानें या मानें उन लोगों के बीच समय बिताने से आपको ज़िन्दगी के बारे में बहुत कुछ सीखने को मिलता है. हम यहाँ सिर्फ किसी ख़ास टोली की बात नहीं कर रहे, अपितु हमारा कहना ये है की आप समझदार लोगों के बीच बैठना शुरू करें.

आपको वहां से हर तरह की सलाह मिलेगी और किस काम को किस तरह से करना है ये पता चल जाएगा. वो कहते हैं ना की जैसे लोगों के पास आप बैठेंगे आपके अन्दर भी वैसे ही गुण आना शुरू हो जायेंगे. ऐसी बैठकों से वाकई आपको बहुत कुछ सीखने को मिलता है और समाज के साथ रिश्ता भी मजबूत होता है.

समझदार कैसे बने

(2) डरना छोड़े, निडर बनें – अगर आप इस उलझन में हैं की समझदार कैसे बनें तो सबसे पहले अपने अन्दर के डर को दूर भगाइए. क्योंकि डरपोक आदमी कभी समझदार हो ही नहीं सकता. यूँ कह लीजिये की डर किसी भी व्यक्ति को सही Decision लेने ही नहीं देता.

डरपोक आदमी हडबडाहट में हमेशा गलत फैसला लेता है और गलत फैसले लेने वाला व्यक्ति कभी समझदार नहीं कहलाता. इसलिए डर डर कर जीना छोड़ें और अपने आपको मानसिक रूप से मजबूत बनायें.

डर सिर्फ गलत काम करने वाले को लगना चाहिए, सही व्यक्ति के लिए किसी प्रकार का कोई डर नहीं होता. किसी भी काम को करते वक़्त डरिये मत, अपने आप पर पूरा भरोसा रखिये और शान्ति के साथ उस काम को कीजिये. इस तरह से काम पूरा होने के बाद आप एक समझदार व्यक्ति कहलायेंगे.

(3) खुद पर पूरा विश्वास रखें – क्या आप जानते हैं की होशियार लोगों की सबसे बड़ी पहचान और गुण क्या होता है? अगर नहीं जानते तो आपको बतादें की उनका Self Confidence ही उनका सबसे बड़ा गुण होता है और यही उनको दुसरे लोगों की तुलना में ज्यादा समझदार भी बनाता है.

क्योंकि जो व्यक्ति आत्म विश्वास से लबरेज होता है उसके ज्यादातर निर्णय सही साबित होते हैं और वो हर काम को आसानी से पूरा भी कर पाता है. यही कारण है की लोगों के सामने उसकी छवि कुछ अलग ही “होशियार” व्यक्ति के रूप में बन जाती है.

आपको भी अपने अन्दर आत्मविश्वास जगाना है. आप खुद सोच कर देखिये, क्या आप किसी से कम खाते हैं? क्या आपका शरीर किसी से कम है? क्या आपका दिमाग कमजोर है? नहीं ना?? फिर खुद को दूसरों से कम क्यों समझना? याद रखें आदमी की सोच ही आदमी को बड़ा बनाती है, बाकी शरीर और मन तो सबका एक जैसा ही होता है.

(4) गुस्से की जगह समझदारी दिखाएँ – अगर आप जानना चाहते हैं की होशियार कैसे बने तो अपने गुस्से और चिडचिडेपन को दूर करना बहुत ही जरूरी है. बात बात पर क्रोध करने वाला व्यक्ति ना तो समझदार होता है और ना ही होशियार.

बेवजह गुस्सा आपको अपने जीवन में कई तरह के नुकसान पहुंचाता है, जिन्हें आप अपनी समझदारी से टाल सकते हो. आप खुद भी देखते होंगे की आपके आस पास जितने भी लोग हैं, जो समझदार और होशियार कहलाये जाते हैं वो हमेशा शांत रहते हैं.

वो लोग हर स्थिति को शान्ति से Handle करते हैं इसीलिए समझदार कहलाये जाते हैं. क्योंकि उन्हें पता है की अगर Life को Easy बनाना है तो ठन्डे दिमाग से निर्णय लेने होंगे, गुस्से से काम नहीं चलेगा. उनकी इसी सोच और गुण के कारण वो Life में Successful भी होते हैं और होशियार भी कहलाये जाते हैं.

(5) खुद के लिए जीना सीखें – भोले लोग इस दुनिया की चतुराई को समझ नहीं पाते और बेवकूफ कहलाते हैं. कई लोग बेवजह Charity के चक्कर में उलझे रहते हैं और लोगों के बीच मज़ाक का पात्र बन जाते हैं. हालांकि वो बेचारे अपने हिसाब से तो दूसरों का भला करने की ही कोशिश करते हैं.

पर लोग उनके मजे लेना शुरू कर देते हैं. हम ये नहीं कहते की किसी की सहायता करना बुरी बात है, ये अच्छी बात है. पर मौके की नजाकत को समझना बहुत ही जरूरी है क्योंकि ये दुनिया सिर्फ दिखावे के लिए काम करती है. अगर आपको होशियार बनना है तो आपको भी उनकी तरह ही बनना पड़ेगा.

आपको खुद के लिए जीना भी सीखना पड़ेगा. हर वक़्त दूसरों को बहुत ही ज्यादा अहमियत देने से उन लोगों की नज़र में आप फालतू हो जाते हैं. तो समय समय पर सबके पास जाएँ, लोगों की मदद भी करें पर खुद को ऐसा बनायें जो “हमेशा उपलब्ध ना हो”. हमेशा उपलब्ध रहने वाले व्यक्ति की समाज में इज्ज़त कम हो जाती है.

होशियार कैसे बने

(6) दूसरों पर विश्वास करने से पहले कई बार सोचें – अगर आप हर बार यूँ ही हर किसी पर आसानी से विश्वास कर लेते हैं तो ये समझदारी वाला गुण नहीं है. दूसरों पर यूँ ही विश्वास कर लेना आपको मानसिक चोट पहुंचा सकता है और लोगों के बीच हंसी का पात्र बना सकता है.

लोग खुद पहले तो आपके साथ विश्वासघात करेंगे और फिर लोगों के बीच आपकी बेवकूफी के किस्से सुनायेंगे. तो आपको इन परिस्थियों में बहुत ही गहराई से सोच कर काम करना है और यूँ ही किसी पर विश्वास करने से पहले सौ बार सोचें. ये समझदार या होशियार बनने के तरीके आपका व्यक्तित्व निखारते हैं.

(7) अपनी और दूसरों की गलतियों से सीखें – हम हर वक़्त सोचते रहते हैं की अपनी Life को आसान कैसे बनायें, पर उसके लिए जो जरूरी चीज़ है उस पर ध्यान नहीं देते. आप सोचिये हमारी Life कैसे Easy बनेगी? जब हम अपने जीवन में कम से कम गलतियाँ करेंगे तब.

और कम से कम गलतियाँ कैसे होंगी? जब हम अपनी पहले की गलतियों या किसी दुसरे व्यक्ति द्वारा की गयी गलती से सीख लेंगे. अगर हम ऐसा करेंगे तो अपना जीवन ज्यादा बेहतर तरीके से गुजार पायेंगे और लोग हमें समझदार भी कहेंगे. इसलिए गलतियों से सीखना बहुत ही जरूरी है चाहे वो हमारी खुद की हों या दूसरों की.

(8) खुद को Alert रखें – Alertness हमारे जीवन में बहुत ही जरूरी चीज़ है जिसके चलते हम अपनी Life में Set हो पाते हैं. अगर हम अपनी Life में हर चीज़ को लेकर सचेत नहीं रहेंगे और यूँ ही लापरवाही से आगे बढ़ते रहेंगे तो भविष्य में हमें काफी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा.

लापरवाह व्यक्ति को समझदार नहीं कह सकते, और ना ही उन पर कोई भरोसा करता है. क्योंकि ऐसे व्यक्ति हर बात को धुआं में उड़ाते चलते हैं और उनकी इसी आदत की वजह से उनकी Life काफी अव्यवस्थित हो जाती है.

समझदारी के साथ अपने जीवन को आगे बढ़ाना है तो आपको हमेशा Alert रहना होगा. ताकि किसी भी मुसीबत को आप आसानी से और जल्दी से जल्दी ख़त्म कर सकें. जो व्यक्ति अपनी Life में Alert रहता है और संभलकर चलता है वो समझदार ही कहलाता है.

(9) पैसों की बचत करके समझदारी दिखाएँ  – पैसों की आज के दिन क्या अहमियत है आपको पता ही होगा. यहाँ तक की सभी रिश्तेदार और दोस्त भी आपके तब तक हैं जब तक आपके पास पैसे हैं. इसलिए अगर आप जानना चाहते हैं की होशियार कैसे बने तो पैसे कमायें भी और जोड़ें भी.

इस समाज में पैसे वाले लोगों को एक अलग तरह का सम्मान दिया जाता है. आज के ज़माने में पैसा ही सब कुछ है. चाहे कितना भी भी गुणी व्यक्ति हो अगर उसके पास पैसा नहीं है तो लोग उसे उतनी इज्जत नहीं देते. होशियार होने का पद पाने के लिए आपको अपना Bank Balance भी बनाना पड़ेगा.

पैसों की बचत करने का सिर्फ यही फायदा नहीं है बल्कि आपका भविष्य भी सुरक्षित होता है जिससे आपका जीवन आसान होता है. अगर कोई व्यक्ति अपने द्वारा कमाए हुए पैसों को यूँ ही बेफिजुली में उड़ाता रहता है तो ये समझदारी वाला गुण बिलकुल भी नहीं है. ऐसा करने से आप होशियार नहीं बल्कि बेवकूफ कहलायेंगे.

(10) सबकी इज्ज़त करें और तरीके से पेश आयें – होशियार और समझदार दिखने के लिए आदमी की बोलचाल और व्यवहार का बेहतर होना बहुत ही जरूरी है. हमारी बातचीत का तरीका और दूसरों के प्रति रवैया ही लोगों के बीच हमारी छवि बनाता है.

अगर आप सबसे साथ इज्जत और तमीज से बात करेंगे तो आप समझदार कहलायेंगे. वहीँ अगर आप अभद्र भाषा का प्रयोग करते है तो ये होशियार होने का गुण नहीं है. होशियार तो वो होता है जो अपनी बातों की चतुराई से अपने सारे काम निकलवा ले. होशियार बनना है तो कब कैसे बोलना है अच्छी तरह से सीख लें.

(11) जिम्मेदार बनें – अगर आप खुद की जिम्मेदारियों से भागते हैं तो माफ़ कीजिये आप होशियार नहीं हैं. ये समाज उन लोगों को होशियार मानता है जो खुद और अपने परिवार की पूरी जिम्मेदारी को बहुत ही अच्छी तरह से निभा रहा हो.

आप अपने घर से ही ले लीजिये, अगर खुद आपके घर वाले ही आपको होशियार और Family का कर्ता धर्ता नहीं मानेंगे तो फिर लोग क्यों मानेंगे. सबसे पहले अपने परिवार से शुरुआत कीजिये. पूरी तरह से जिम्मेदार बनकर अपने परिवार का विश्वास जीतिए.

फिर देखिएगा लोग भी आपको समझदार और होशियार ही मानेंगे. परिवार में समझदार आदमी उसी को माना जाता है जो हालातों का सही अंदाजा लगाकर हर समस्या का समाधान ढूंढ कर रखे. आपको भी ऐसा ही व्यक्ति बनना है तभी आप असल में होशियार बनेंगे.

(12) Future Planning करने वाले बनें – होशियार बनने के तरीके तो बहुत से हैं लेकिन जो व्यक्ति भविष्य को ध्यान में रखकर चलता है वो वास्तव में होशियार ही होता है. ज़िन्दगी में मुसीबतों का सबसे ज्यादा सामना उन लोगों को करना पड़ता है जो अपने और अपने परिवार के भविष्य की अनदेखी करते हैं.

लगातार लापरवाही बरतने पर ऐसे लोग Progress की बजाय नीचे की और लुढकते चले जाते हैं और एक दिन ऐसा आता है जब समाज में सबसे नीचे होते हैं. समाज के साथ मिलकर चलने के लिए और Progress बनाये रखने के लिए आपको हमेशा Update रहना होगा.

आपको दूरदर्शिता अपनानी होगी और अपने Future को ध्यान में रखकर चलना होगा तभी आप समझदार कहलायेंगे. मान लिया आज आप के पास पैसा है और इज्जत भी है पर यदि आप बिना Planning के ऐसे ही चलते जायेंगे तो एक दिन पैसे भी ख़त्म हो जायेंगे और पैसे जाते ही इज्जत भी कम हो जायेगी.

तो ये थे समझदार व्यक्ति के गुण जिन्हें आपको अपने जीवन में उतारना है. अगर आप ऐसा करते हैं तो आपको किसी से पूछने की जरुरत नहीं की अपनी Life को आसान कैसे बनाये क्योंकि अगर आप ऐसे बन गए तो जीवन तो अपने आप ही आसान हो जाएगा.

ये भी पढ़ें –

ये था हमारा लेख होशियार कैसे बने – समझदार कैसे बने. उम्मीद है आपको ये लेख काफी पसंद आया होगा, तो इसे Like और Share जरूर कर दें. अगर आप हमारे साथ जुड़ना चाहते हैं तो हमारे Facebook Page को Like करें व् हमें Subscribe जरूर कर लें. धन्यवाद.

2 thoughts on “होशियार कैसे बने | खुद को समझदार व होशियार बनाने के तरीके

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *