Independence Day Shayari In Hindi

Independence Day पर जोशीली Shayari हिंदी में | स्वतंत्रता दिवस की शायरी

Independence Day Shayari In Hindi 2020– 1947 में आजादी पाने के बाद हम हर साल इस आज़ादी का जश्न मनाते आ रहे हैं. आज हम आपके लिए लेकर आये हैं 15 अगस्त यानी स्वतंत्रता दिवस पर शायरी, जो आपका दिल खुश कर देगी. स्वतंत्रता एक ऐसा शब्द है जो जेहन में आते ही एक अलग ही Feeling देता है.

क्या कुछ नहीं सहा हमारे पूर्वजों ने, बहुत पापड बेलने पड़े उन्हें आज़ादी की सुगंध लेने के लिए. कह सकते हैं की Independence Day पर शायरी लिखने का मौका हमें यूँ ही नहीं मिला. हमारे कई देशभक्तों ने अपना खून और पसीना दोनों बहाया, कभी उफ़ तक नहीं की, यहाँ तक की कईयों ने अपने आप को देश पर कुर्बान कर दिया.

हम तो यही कहेंगे दोस्तों की इससे ज्यादा सौभाग्य की बात हमारे लिए और क्या हो सकती है की हमने एक स्वतंत्र भारत देश में जन्म लिया. स्वतंत्रता पाने के लिए देशभक्तों द्वारा जो पीडाएं सही गयी, उनका सही उल्लेख किताबों में नहीं मिलता. आज़ादी दिलाने में जितने लोगों का हाथ किताबों में बताया जाता उसे हम पूरी तरह से सच नहीं मानते.

किताबों में तो कई ऐसे देशभक्तों का नाम तक नहीं है जिन्होंने देश के लिए अपना तन मन और धन सब त्याग दिया था. जिक्र होता है तो बस कुछ चुनिन्दा नामों का, बस उन्ही के बारे में हम सबको बताया जाता है. लेकिन हम हमारी 15 August की Shayari को उन सभी देशभक्तों को समर्पित करते हैं, जो जान देकर भी गुमनाम रह गए.

हम सभी का ये फ़र्ज़ बनता है की जिन्होंने अपना सब कुछ गंवाकर हमें ये तोहफा दिलवाया है उन्हें हम याद करें और अपने देश के लिए कुछ भी करने को हमेशा तैयार रहें. हमारे दिमाग में सदैव ये बात रहनी चाहिए की हमारी वजह से हमारा तिरंगा कभी झुक ना पाए. पेश है आपके खून में जोश भर देने वाली Independence Day Shayari.

Heart Touching Shayari Of 15 August In Hindi – स्वतंत्रता दिवस पर शायरी

(1) मैं भारतवर्ष का हमेशा, दिल से सम्मान करता हूँ

      यहाँ की चांदनी मिट्टी का ही गुणगान करता हूँ

      मुझे चिंता नहीं है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने का 

      तिरंगा हो कफ़न मेरा, बस यही अरमान रखता हूँ

Independence Day की शायरी

(2) कुछ नशा मेरे तिरंगे की आन का है, कुछ नशा भारतमाता की शान का है

       हम लहरायेंगे हर जगह ये तिरंगा, नशा ये हिंदुस्तान के मान का है.

 

(3) आओ देश का सम्मान करें, शहीदों के बलिदान को याद करें

      एक बार फिर से अपने देश की बागडोर हम अपने हाथ धरें.

      दिल से अपने स्वतंत्रता दिवस का सम्मान करें.

 

(4) मरने के बाद भी जिनका इस जहाँ में नाम है

      ऐसे धाकड़ सैनिक हमारे देश की शान हैं.

 

(5) दिल से दे सलामी इस तिरंगे को, जिससे तेरी शान है

      हमेशा रखना सिर ऊंचा इसका, जब तक तुझमे जान है.

 

(6) तैरना ही है तो समुन्द्र में तैरो, तालाबों में क्या रखा है

      प्यार करना है तो देश से करो, ख्वाबों में क्या रखा है.

 

(7) जिस देश में पैदा हुए हो तुम, उस देश के अगर तुम भक्त नहीं

     पीया नहीं दूध माँ का तुमने और बाप का तुम में रक्त नहीं

     वन्देमातरम !! Best Independence Day Shayari In Hindi

15 अगस्त की बेहतरीन शायरी

(8) जश्न आज़ादी का मुबारक हो देश वालो को,

     फंदे से प्यार था हम वतन के मतवालो को

 

(9) वतन ऐसा है हमारा की कोई छोड़ ना पाए, रिश्ता ऐसा है हमारा की कोई तोड़ ना पाए

      दिल भी हमारा एक है और एक हमारी जान है, हिंदुस्तान हमारा है और हम इसकी शान हैं.

 

(10) दिल में जोश औ आँखों में देशभक्ति की चमक रखता हूँ.

        शत्रु की साँसे थम जाए, आवाज़ में इतनी धमक रखता हूँ.

 

(11) लिपट कर बदन तिरंगे में, ना जाने कितने आये थे

       यूँ ही नहीं हम आसानी से, ये आज़ादी पाए थे

 

(12) 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस की शायरी पढ़कर –

      अब तक जिसका खून न खोला, वो खून नहीं वो पानी है,

       जो देश के बिलकुल काम ना आये, वो यूँ ही बेकार जवानी है

 

(13) काश मेरी जिंदगी मे सरहद की कोइ शाम आए

       मेरी जिंदगी मेरे वतन के काम आए

       ना डर है मौत का ना इच्छा है जन्नत की

       जिक्र जब कभी भी हो शहीदो का

       काश मेरा भी नाम आए काश मेरा भी नाम आए

 

(14) मत मरो उस बेवफा सनम के लिए के लिए, दो गज़ जमीन भी नहीं मिलेगी दफ़न होने के लिए, 

        मरना हैं तो हसीन वतन के लिए मरो, हसीना भी दुप्पट्टा उतार देगी तेरे कफ़न के लिए

 

(15) ना तन चाहिए मुझे और ना ही धन चाहिए

        बस अमन से औत प्रोत मेरा वतन चाहिए

       जब तक जिंदा हूँ भारतमाता के लिए हूँ

       मरने के बाद तिरंगा मुझे कफ़न चाहिए

Shayari-Of-Independence-Day-In-Hindi

(16) हम लोग तिरंगा लहरायेंगे, देशभक्ति गीत गुनुनायेंगे

        वादा करो इस राष्ट्र को प्यारा देश बनायेंगे

 

(17) सुन्दर है दुनिया में सबसे, नाम भी सबसे प्यारा है

       जातीय भाषा से बढ़कर, देश प्रेम की धारा है

       जहाँ सबको मिले अधिकार बराबर

       वो भारत देश हमारा है.

 

(18) ना पूछो इस ज़माने से , की क्या हमारी कहानी है

        हमारी पहचान तो केवल ये है की हम सिर्फ हिन्दुस्तानी है

 

(19) जिस देश का ताज़ हिमालय है, जहाँ बहती गंगा है

       जहाँ अनेकता में एकता है

       सत्यमेव जयते जहाँ नारा है, 

       वो भारत वतन हमारा है

 

(20) आजादी की कभी शाम नहीं होने देंगे

         शहीदों की शहादत बदनाम नहीं होने देंगे

        अगर बची हो सिर्फ एक बूंद भी लहू की

        तब तक भारत माता का आँचल नीलाम नहीं होने देंगे

 

(21) देश भक्तों को अक्सर लोग पागल कहते हैं

       कह दो उन्हें… सीने पर जो जख्म हैं,

      ये तो सब फूलों के गुच्छे हैं 

       हमें पागल ही रहने दो, हम पागल ही अच्छे हैं….. This Is Amazing Happy Independence Day Shayari In Hindi.

 

(22) हम आन देश की शान देश की, देश की हम संतान हैं

        तीन रंगों से रंगा तिरंगा, अपनी तो बस यही पहचान है

स्वतंत्रता दिवस की शायरी

(23) उन आँखों की कुछ बूंदों से सारे सागर हारे हैं,

        जब मेहँदी वाले हाथों ने अपने, मंगल-सूत्र उतारे हैं

 

(24) आओ झुक कर करे नमन उन्हें, जिनके हिस्से में ये मुकाम आता है

        कितने खुशनसीब है वो लोग, जिनका खून वतन के काम आता है.

 

(25) ख़ुशनसीब है वो जो वतन पे मिट जाते है

        मर कर भी वो लोग अमर हो जाते है

        करता हूँ तुम्हें सलाम वतन पर मिटने वालों

        तुम्हारी हर साँस में बसता इस तिरंगें का नसीब है

 

(26) इतनी सी बात हवाओं को बताए रखना, रौशनी होगी चिरागों को जलाये रखना,

        खून देकर की है जिसकी हिफ़ाजत हमने, ऐसे तिरंगे को दिल में हमेशा बसाए रखना

 

(27) भूल न जाना भारत माँ के सपूतों का बलिदान, इस दिन के लिए जो हुए थे हंसकर कुर्बान,

        आज़ादी का ये जश्न मनाकर लो ये शपथ, की बनायेंगे हमारे देश भारत को और भी महान

 

(28)  ये पेड़, पौधे और प्रकृति भी परेशान हो जाए

          अगर पक्षी भी हिन्दू और मुसलमान हो जाएँ.

 

(29) तरक्की की रह पर देश हमारा, रंग लायी हर क़ुरबानी है

         गर्व से अपना परिचय दो, हम पक्के हिन्दुस्तानी हैं.

 

(30) दुनिया भर में मिलते हैं आशिक कई, मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं,

         नोटों में लिपटकर और सोने में भी सिमट कर मरे हैं कई, मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं

15 अगस्त के लिए जोशीली शायरी – Independence Day Shayari In Hindi

(1) गंगा, यमुना और यहाँ नर्मदा, मंदिर, मस्जिद के संग गिरजा,

      शांति प्रेम की देता शिक्षा, मेरा देश सदा सर्वदा

 

(2) चढ़ गये जो हंसकर फांसी 

     खाई जिन्होने छाती पर गोली

     हम उनको प्रणाम करते हैं

     जो मर मिट गये देश पर

     हम सब उनको सलाम करते हैं

 

(3) मेरा भारत महान था, महान है और सदा महान रहेगा.

      है हौंसला सब के दिलों में बुलंद, तो एक दिन पाक भी जय हिन्द कहेगा

 

(4) तिरंगा हमारा शान हमारी , वतन परस्ती हैं वफा हमारी,

     देश पे मर मिटना कबुल है हमें, अखंड भारत के सपने का जुनून हैं हमें

 

(5) कर हौंसले को बुलंद जवान, तेरे पीछे खड़ी सारी आवाम,

      हर देशद्रोहीको मार गिराएंगे जो हमसे देश बंटवाएंगे

 

देशभक्ति की शायरी

(6) देशभक्ति से ही राष्ट्र की शान है, देशभक्तों से ही देश महान है

       हम उस देश के यारों वासी हैं जिस देश का नाम हिंदुस्तान है.

 

(7) स्वतंत्रता दिवस की शायरी लिखने का, यूँ ही मौका नहीं मिला

      खून की नदियाँ बही बहुत थी, तब जाकर ये चमन खिला.

 

(8) आपसी प्यार का दूसरा नाम है मेरा देश, अनेकों में एकता का प्रतीक है मेरा देश 

      चंद गैरों की सुनना मुझे गंवारा नहीं, हिन्दू मुस्लिम सभी के लिए प्यारा है मेरा देश

 

(9) वो शमां जो काम आये अंजुमन के लिए, वो जज्बा हो जो कुर्बान हो जाये अपने वतन के लिए,

      हम ऐसे होंसले रखते हैं की वो होंसले भी जो मर मिटे हिंदुस्तान के लिए.

 

(10) देश को आजादी के नए अफसानों की जरूरत है

        भगत-आजाद जैसे आजादी के दीवानों की जरूरत है,

        इस देश को फिर ऐसे देशभक्त परवानों की जरूरत है

 

(11) लड़ें वो वीर जवानों की तरह, ठंडा खून फ़ौलाद हुआ,

       मरते-मरते भी कईयों को मारा, तभी तो देश आज़ाद हुआ

 

(12) ना हिन्दू बन कर देखो, ना मुसलमान बन कर देखों

       पुत्रों की इस लड़ाई में बिलखती हुयी भारत माँ को देखो

 

(14) Independence Day Shayari पढ़कर देशभक्तों की आँखें नम हुयी

       कुछ तो था उन वीरों में, वरना सब कहते, चलो देश की जनता कम हुयी

Independence Day Shayari In Hindi

(15) चिंगारी आजादी की सुलगी मेरे मन में हैं, इन्कलाब की ज्वालाएं लिपटी मेरे बदन में हैं,
        मौत जहाँ जन्नत हो ये बात मेरे वतन में हैं, कुर्बानी का जज्बा जिन्दा मेरे कफन में हैं

 

(16) भूख, गरीबी, लाचारी को इस राष्ट्र से हम आज मिटायें

        भारत के हर भारतवासी को उसके सब अधिकार दिलायें

 

(17) मत जियो धर्म के नाम पर, ना ही मरो धर्म के नाम पर

       इंसानियत ही है धर्म वतन का बस, जियो हमेशा वतन के नाम पर

 

(18) आज शहीदों ने है तुमको, ऐ देशवासियों है ललकारा, तोड़ो गुलामी की जंजीरें, और जरा बरसाओ अंगारा

        हिन्दू-मुस्लिम-सिख सभी हैं भाई, प्यारा यह है आजादी का झंडा, इसे हमेशा सलाम हमारा

 

(19) दाग गुलामी का धोया है हमने जान लुटा कर, दीप जलाये है कितने ही दीप बुझा कर
        मिली है ये आज़ादी तो अब, रखना होगा हर दुश्मन से आज बचाकर

 

(20) मैं इसका हनुमान हूँ, ये देश ही मेरा राम है
         छाती चीर के देख लो मेरी, अन्दर बैठा हिन्दुस्तान है

इन्हें भी जरूर पढ़ें –

ये था हमारा लेख Independence Day Shayari In Hindi – 15 August स्वतंत्रता दिवस पर शायरी. उम्मीद है ये लेख आपको काफी पसंद आया होगा. तो फिर इसे Like व Share जरूर करें. हमारे साथ जुड़ने के लिए हमारे Facebook Page को Like करें व हमें Subscribe करलें. धन्यवाद.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *