आलस दूर करने के उपाय व् तरीके

आलस दूर करने के उपाय व तरीके | How To Overcome Laziness

How To Overcome Laziness In Hindi – हमारे जीवन में कई बार ऐसे अवसर आते हैं जो हमें बहुत आगे ले जा सकते हैं. ये अवसर सफलता का रास्ता होते हैं लेकिन एक चीज़ बीच में आकर खड़ी हो जाती है, और वो है आलस्य. आज हम आपको बताने वाले हैं आलस दूर करने के उपाय व तरीके. जिनसे आपको अच्छी खासी मदद मिलेगी.

पता नहीं कितने ही लोग हैं जो हर रोज दिन में कई बार सोचते हैं की अपनी थकान, सुस्ती या आलस कैसे दूर करे. कौनसे वो आलस्य और सुस्ती दूर करने के तरीके या ख़ास Tips हैं जो इस Problem से उन्हें बचा सके. कुछ लोगों की मजबूरी होती हैं, किसी लम्बी बीमारी या कमजोरी के कारण उन पर हमेशा आलस हावी रहने लगता है.

लेकिन बहुत से लोग ऐसे हैं जो बिना किसी मजबूरी के आलस के इस मकडजाल में फसे हुए हैं. ये वही लोग होते हैं जो शारीरिक और मानसिक रूप से बिलकुल स्वस्थ रहते हुए रोज रहने वाले आलस के चलते बहुत से आगे बढ़ने के मौके गँवा देते हैं. ध्यान देने वाली बात ये हैं की आलस हमारे जीवन में सफलता का रास्ता रोकने वाली सबसे बड़ी रुकावट है.

इसे अपने से दूर करना बहुत जरूरी है, नहीं तो ये हमें बुरी तरह से पूरी जिंदगी प्रभावित करता है. जो लोग बहुत ही सुखमय यानी सुगम जीवन जीते हैं उन्हें आलस बहुत ही जल्दी पकड़ लेता है. जिन लोगों को हर चीज़ बैठे बैठे मिल जाती है या फिर जिन्हें अपने बुजुर्गों से इतना कुछ मिल गया होता है की उन्हें खुद कुछ काम करने की जरूरत ही महसूस नहीं होती.

अगर आप अभी Student हैं या आपकी उम्र कम है तो अभी से ही आपका समझना जरूरी है की सुस्ती, थकान या आलस को कैसे दूर भगाएं. नहीं तो एक बार जब आलस किसी को पकड़कर बैठ जाता है तो आसानी से उसका पीछा नहीं छोड़ता. वैसे आलस होने के कई कारण होते हैं, चलिए एक नज़र उन कारणों पर डालते हैं जिनसे आलस्य हो सकता है.

How To Overcome/ Get Rid Of Laziness

How To Overcome Laziness In Hindi – आलस्य होने के कारण

(1) Negative Thinking  (हमेशा नकारात्मक सोचना)

(2) Overeating  (जरूरत से ज्यादा खाना)

(3) Lack Of Physical Activities  (शारीरिक श्रम की कमी)

(4) Disturbed Sleep  (सही से नींद ना आना)

(5) Weakness  (कमजोरी)

(6) Due To various Diseases  (विभिन्न बिमारियों के चलते)

(7) Stress – Anxiety  (तनाव या भय)

ये कुछ कारण हैं जिनके चलते आप हर समय या कहलें की ज्यादातर समय आलस में पड़े रह सकते हैं. तो जाहिर सी बात है जो लोग जानना चाहते हैं की सुस्ती कैसे दूर करें, उन्हें सबसे पहले ऊपर बताई गयी चीज़ों में सुधार करना होगा. तभी जाकर उनके जीवन को आल्स्यमुक्त बनाया जा सकता है.

पोस्ट को ज्यादा लम्बा नहीं करेंगे, चलिए बताते हैं आपको कुछ आलस दूर करने के तरीके व Tips जिन्हें अपनाकर आप काफी हद तक आलस से बच पाएंगे और अपने जीवन में ऊचाइयों को छूने में कामयाब हो पाएंगे. आपको एक्टिव और उर्जावान बनने में ये Tips आपकी काफी मदद करेंगे.

How To Become Active In Hindi – आलस दूर करने के उपाय

(1) Morning Walk – अगर आप हमेशा थके थके रहते हैं और आलस आपकी दिनचर्या को बुरी तरह से प्रभावित कर रहा है तो आप सुबह के समय Walk पर जाना शुरू कीजिये. सुबह का शुद्ध वातावरण हमारे सभी Organs को Activate करने में अहम् भूमिका निभाता है और मष्तिष्क में नयी उर्जा का संचार होता है.

सुबह की सैर हमारे अन्दर एक नयी Energy  को जन्म देती है जिसे आप अपने पूरे दिन के दौरान महसूस कर सकते हैं. Morning Walk से ना सिर्फ आप Active बनेंगे बल्कि आप मानसिक रूप से भी मजबूत बनकर उभरते हैं. ये आपका आलस जरूर कम करेगी. ये कुछ बेहतरीन आलस भगाने के तरीके हैं जो बहुत ही बढ़िया काम करते हैं.

(2) कमजोरी को दूर करें – जैसा की हमने आपको बताया की कई बार व्यक्ति दिखने में मोटा ताज़ा और स्वस्थ लगता है. लेकिन शरीर में कई जरूरी तत्वों जैसे Vitamins और Minerals की कमी की वजह से उनमें अंदरूनी कमजोरी पायी जाती है. जिससे उनमें हर समय थकान और आलस की समस्या देखी जाती है.

तो सिर्फ How To Get Rid Of Laziness सोचने से बात नहीं बनने वाली है बल्कि हमें आलस का इलाज करवाना जरूरी है. इसके लिए आप चाहें तो एक बार Doctor अपना Check Up करवा सकते हैं या फिर अच्छा खान पान अपनाकर अपनी कमजोरी को दूर कर सकते हैं. जैसे जैसे आपकी कमजोरी दूर होगी आपका आलस भी कम होता चला जाएगा.

सुस्ती या थकान कैसे दूर करें

(3) नींद पर ध्यान दें – अगर आपको कुछ ज्यादा ही आलस रहता है तो हो सकता है की आपकी नींद पूरी नहीं हो पा रही है. इस पर ध्यान देना जरूरी है, नींद पूरी ना होने या सही से ना आने के कारण दिमाग और शरीर की थकान नहीं मिट पाती है. इसलिए आलस्य को दूर करने के लिए पर्याप्त नींद लेना जरूरी है.

इसके लिए आप हमेशा रात को जल्दी से जल्दी सोने का प्रयत्न करें. ऐसी चीज़ें अपने सोने के कमरे में बिलकुल ना रखें जो आपकी नींद में कभी भी खलल डाल सकती हैं. 40% Cases में खराब और कम नींद को ही आलस की समस्या की जड़ पाया गया है.

(4) Positive Thinking – आप जितना ज्यादा Negative सोचेंगे अपने अन्दर उतनी ही कम उर्जा महसूस करेंगे. Negativity हमेशा आलस को ही जन्म देती है. इसलिए हमेशा सकारात्मक रहने की कोशिश करें. कुछ चीज़ें ऐसी होती हैं जिन पर आपका जोर नहीं चल सकता, जो होना है वो होकर रहेगा. बस आप अपनी तरफ से नकारात्मक मत सोचिये.

सकारात्मक रहना सीखना पड़ता है, ये कोई एक दिन का काम नहीं है. लेकिन सकारात्मक लोगों का साथ आपकी इस चीज़ में बहुत मदद कर सकता है. जैसे जैसे आपमें Positivity बढ़ेगी आपका आलस उडन छू होता चला जाएगा. ये बहुत ही बढ़िया आलस दूर करने के उपाय हैं जिनका कोई पैसा नहीं लगता है.

(5) व्यायाम– ऊपर बताये गए कारणों में हमने आपको आलस का एक कारण शारीरक श्रम की कमी भी बताया है. असल में नींद के बाद ये दूसरा सबसे बड़ा कारण है हमेशा आलस्य के साए में पड़े रहने का. जो लोग अपने शरीर से बिलकुल भी मेहनत नहीं करवाते वो पड़े पड़े बस आलस को ही न्योता दे रहे होते हैं. ऐसे लोग आलस का सबसे पसंदीदा घर होते हैं.

जिन्हें आलस कभी भी छोड़ना नहीं चाहता. तो अगर आपको आलस को दूर भगाना है तो रोज थोडा सा शारीरक श्रम जरूर कीजिये. अगर आपके घर में मेहनत वाला कोई काम नहीं है तो आप हर रोज कम से कम 30 मिनट Exercise करना शुरू करें. Exercise आपके आलस को दूर करने का काम जरूर करेगी, आप अपने आप में फर्क जरूर महसूस करेंगे.

(6) जरूरत से ज्यादा ना खाएं– ऊपर बताये गए Tips और आलस दूर करने के तरीके और भी ज्यादा अच्छे से काम करेंगे यदि आप बहुत ज्यादा खाने की अपनी आदत को छोड़ देंगे. जी हाँ जरूरत से ज्यादा खाना कई सारी बीमारियों को जन्म देता है जिसमें आलस भी एक है.

ज्यादा खाने और बार बार खाने से आपका शरीर ज्यादातर उर्जा अपने भोजन को पचाने में ही खर्च कर डालता है. उसके बाद आपके शरीर में इतनी उर्जा नहीं बच पाती की वो पूरे दिन आपको Active रख सके.

ऐसे में उर्जा की कमी के चलते आप हमेशा आलस में रहना शुरू हो जाते हैं. ध्यान रहे हमेशा सिर्फ इतना खाएं जिससे आपका काम चल जाए. स्वाद के चक्कर में ज्यादा खाया गया खाना हमेशा आलस को ही जन्म देता है.

(7) तनाव को करें दूर – आलस्य तनाव की वजह से भी होता है, तो आपको उन कारणों पर ध्यान देने की जरुरत है जिनके कारण आप लगातार तनाव में जी रहे हैं. आपको उन परिस्थियों को सुधारना होगा जो तनाव को बढ़ा रही हैं. अगर आपसे परिस्थिति पर काबू नहीं हो पा रहा है तो उसे भगवान् भरोसे छोडिये.

जितना सुधार आप कर सकते हैं वो आप कीजिये. कर्म हमेशा ऐसे कीजिये जिससे आपको ख़ुशी मिले, तनाव नहीं. जैसे जैसे आप खुश रहने लग जायेंगे आपका आलस खुद ब खुद दूर होता चला जाएगा. Tension Free रहने की कोशिश करें और जीवन को इतना Seriously ना लें की तनाव बढ़ने लगे.

(8) कार्य के महत्व को समझिये – बहुत से ऐसे लोग हैं जिनका मन तो करता रहता है की ये काम पूरा कर लेते हैं लेकिन आलस की वजह से वो उसे टालते रहते हैं. ऐसे में एक बार आप शांत दिमाग से उस काम के महत्व को समझिये. सोचिये की वो काम समय पर पूरा करने से आपको कितना फायदा हो सकता है.

आलस दूर करने के उपाय व् तरीके

इसी तरह से साथ में ये भी सोचिये की उस काम को सही समय पर काम न करने के कितने बड़े दुष्परिणाम हो सकते हैं. बस ऐसा सोचते ही झट से खड़े हो जाइए और उस काम में हाथ डाल दीजिये. बस एक बार शुरुआत होने की ही देर होती है.

शुरू करने के बाद तो काम हम कर ही लेते हैं. ये हल्के में लेने वाले आलस दूर भगाने के उपाय नहीं हैं, इन्हें आजमाकर भी देखिएगा. परिणाम आपको हैरान कर सकते हैं, बस एक बार अपने अन्दर की सकारात्मक सोच से काम को शुरू करने की उर्जा पैदा कर लीजिये. धीरे धीरे आपको आदत हो जायेगी.

(9) लक्ष्य को ध्यान में रखें – हर आदमी का कोई न कोई Goal होता है जिसे वो Achieve करना चाहता है. जैसे अगर आप Exercise करते हैं तो आपका लक्ष्य एक बढ़िया Body बनाने का होगा. तो जब भी आप आलस में हों और आपका वो काम करने का मन ना करे तो अपने लक्ष्य को याद करके अपने आप को Inspire करें.

याद करें की क्यों आपने ये काम करने की शुरुआत की थी. आपके ही क्षेत्र से आने वाले किसी दुसरे व्यक्ति के बारे में सोचिये जो आज सफल है. सोचिये अगर वो भी आपकी तरह उस काम को टालता रहता तो क्या वो सफल हो पाता, बिलकुल नहीं. आपको भी तो सफल होना है, ऐसा सोचकर बस जुट जाइए अपने काम में. धीरे धीरे आलस गुम हो जाएगा.

(10) दिनचर्या में बदलाव करें– अगर आप सोच रहे हैं की सुस्ती या आलस कैसे दूर करें या इसे कैसे भगाएं तो दिनचर्या में बदलाव भी आपकी मदद कर सकता है. असल में जितने भी आलसी लोग होते हैं वो लम्बे समय से चली आ रही अपनी एक तरह की दिनचर्या से परेशान हो गए होते हैं. उन्हें ऐसा स्पष्ट रूप से महसूस नहीं होता, लेकिन वास्तव में ये भी आलस का कारण है.

थोडा नयापन जरूरी है, अपने रोज के किये जाने वाले कामों की एक List बनायें. अब उसमें काम तो आप सारे रखिये लेकिन उनका समय थोडा बदल दीजिये. आप चाहें तो अपना मूड सही करने के लिए 1 या 2 नए काम भी उनमें जोड़ सकते हैं जैसे पसंदीदा गाने सुनना. या कुछ भी ऐसा जिसे करने में आपको ख़ुशी महसूस होती हो.

ऐसा करने पर आपको वास्तव में अपने आप में बदलाव देखने को मिलेगा और आपकी बोरियत, थकान और आलस वगैरह जरूर कम होगा. अपने कामों की list जरूर बनायें जिससे आप हमेशा अगले काम के लिए खुद को ready रख सकें.

ये थे कुछ आसान आलस दूर करने के उपाय  जिन्हें आजमाकर आप आलस को अपने से दूर भगा सकते हैं. आप बस इन Points को हमेशा दिमाग में रखकर चलिए आप वाकई अपने आप को कुछ ही दिन में बदला हुआ पाएंगे. कुछ और छोटी मोटी बातें भी हैं जिनका आपको ध्यान रखना है जैसे-

How To Keep Away Laziness In Hindi – आलस दूर करने के लिए Tips

-जब भी आपको आलस आये आप 1 कप Green Tea का आनंद लीजिये. इसमें Anti Oxidents होने की वजह से आपका आलस दूर होगा.

-अपने खाने में फल और सब्जियां शामिल करें जिससे आपको पर्याप्त मात्रा में पौषक तत्व मिल सकें और आलस आपने नज़दीक न आये.

-आप हर रोज सुबह थोड़े से अंकुरित मूंग या चने खाएं, इससे आपका Immune System मजबूत होगा और अंदरूनी कमजोरी दूर होगी.

-कई लोगों को शाम तक यानी लेट नहाने की आदत होती है, उसे बदले. हर रोज सुबह जल्दी नहायें, इससे आपका आलस दूर होगा.

-Creativityको अपनाएं, जब भी Free हों, कुछ नया काम करने की कोशिश करें. इससे आलस दूर रहेगा और आपका मनोरंजन भी होगा.

-सफल लोगों की जीवनी पढ़ें, कैसे उन्होंने लगातार मेहनत करके अपने आप को उस मुकाम तक पहुंचाया.

-अगर गर्मी का मौसम है तो निम्बू के रस का प्रयोग रोज करें. निम्बू का रस आपके आलस को दूर करने में सहयोग करेगा.

-तुलसी का नित्य उपयोग आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाकर आपको स्वस्थ और Active रखता है. नार्मल चाय में तुलसी के 2-4 पत्ते जरूर डालें.

इन्हें भी जरूर पढ़ें –

तो कैसा लगा आपको हमारा लेख आलस दूर करने के उपाय  – How To Overcome Or Get Rid Of Laziness In Hindi – आलस व् थकान दूर करने के तरीके हमें comment करके जरूर बताइयेगा.

पोस्ट पसंद आई हो तो पोस्ट को Like और Share जरूर कर दीजिये. हमारे साथ जुड़ने के लिए हमारे Facebook Page को Like करलें व हमें Subscribe करलें. धन्यवाद.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *